गोरखपुर, जेएनएन। चौरीचौरा इलाके की महिला को झांसा देकर डेढ़ साल तक यौन शोषण करने और गर्भपात कराने का मामला सामने आया है। महिला की तहरीर पर पुलिस ने मुंडेरा बाजार निवासी मोनू रुंगटा और उसके माता-पिता के विरुद्ध दुष्कर्म करने, धमकी देने और गर्भपात कराने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है।

महिला की शादी हुई थी लेकिन पति की बुरी आदतों और उसके उत्पीडऩ करने से परेशान होकर वह लंबे समय से उससे अलग रहती है। जीविकोपार्जन के लिए चौरीचौरा जाकर वह लोगों के घरों में चौका, बर्तन करती है। मुंडेरा बाजार निवासी मोनू रुंगटा के घर भी वह काम करती थी। आरोप है कि डेढ़ साल पहले शादी का झांसा देकर उसे अपने जाल में फंसा लिया। इस बीच वह गर्भवती हो गई। इसके बाद मोनू पर उसने शादी का दबाव डालना शुरू किया तो धोखे से उसने उसका गर्भपात करा दिया। बाद में इसकी जानकारी होने पर मोनू के माता-पिता उसे जान से मारने की धमकी देने लगे। इस संबंध में चौरीचौरा थाने में उसने तहरीर दी थी।

दुष्कर्म का आरोपित गिरफ्तार

तीन वर्ष की बची से दुष्कर्म करने के आरोपित इंद्रजीत को सहजनवां पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना में शामिल एक अन्य आरोपित अभी फरार है। घटना तीन साल पहले की है। शाम को ब'ची घर के सामने खेल रही थी। इसी दौरान खजनी क्षेत्र के बरडाड़ निवासी इंद्रजीत, दोस्त के साथ आया और ब'ची को बहला-फुसलाकर सूनसान स्थान पर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म कर दिया।

किशोरी की हत्या के आरोप में पिता पर मुकदमा

बांसगांव क्षेत्र के टीयर निवासी अमीना खातून ने पति मोहम्मद ताजर पर बेटी की हत्या का आरोप लगाया है। इस मामले में कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने मोहम्मद ताजर, उनकी दूसरी पत्नी और परिवार के अन्य लोगों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा कर लिया है। आरोपितों की अभी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। आमिना खातून ठाड़े, महाराष्ट्र में रहती हैं। 25 वर्ष पहले उनकी शादी मोहम्मद ताजर के साथ हुई थी। उस समय ताजर भी मुंबई में ही रहते थे। उनके दो बेटे और दो बेटियां हैं। वर्ष 2008 में ताजर रहस्मय ढंग से मुंबई से लापता हो गए। बाद में पता चला कि गांव जाकर उन्होंने दूसरी शादी कर ली है।

दूसरी पत्नी के साथ गांव में ही रहते हैं। आमिना ने इस मामले में परिवार न्यायालय में मुकदमा कर रखा है। आरोप है कि इसी बीच ताजर के भाई शौकत उनकी पुत्री शबाना उर्फ मोनी को अगवा कर गांव लेकर चले गए। आमिना के मुताबिक उनके पति के गांव से एक व्यक्ति ने बीते 13 मार्च को उन्हें फोन कर उनकी बेटी की हत्या कर दिए जाने की जानकारी दी। उनका आरोप है कि पति, उनकी दूसरी पत्नी और परिवार के अन्य लोगों ने मिलकर बेटी की हत्या की है। इस मामले में मुकदमा दर्ज कराने के लिए वह कोर्ट की शरण में चली गई। कोर्ट ने बांसगांव पुलिस को मुकदमा दर्ज कर विवेचना करने का आदेश दिया था।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप