मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के सहजनवां में संचालित हो रहे एक निजी विद्यालय में शर्मनाक घटना सामने आई है। विद्यालय के प्रबंधक पर नाबालिग छात्रा को धमकाकर छेड़छाड़ किए जाने का आरोप लगा है। छात्रा के परिजनों की तहरीर पर पुलिस आरोपित प्रबंधक के खिलाफ केस दर्ज की है।

सहजनवां नगर पंचायत के एक वार्ड के रहने वाले व्यक्ति की नाबालिग पुत्री वार्ड नं 4 केशोपुर स्थित मां सरस्वती शिशु मंदिर में कक्षा आठ की छात्रा है। आरोप है कि विद्यालय प्रबंधक वरूण कुमार सिंह उर्फ बब्बू सिंह छात्रा को डरा-धमका कर पिछले कई महीनों से छेड़छाड़ कर रहे हैं।

सोमवार को नाबालिग छात्रा के स्कूल पहुंचने पर प्रबंधक अपने कमरे में बुलाकर छेड़छाड़ करने लगा। घर जाने के बात अपने साथ हो रहे ज्यादती के बारे में छात्रा ने परिजनों से बताया। पीड़ित छात्रा के पिता ने तहरीर दिया, जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया। प्रभारी निरीक्षक दिलीप कुमार सिंह ने बताया कि वरूण कुमार सिंह उर्फ बब्बू सिंह पुत्र हृदय नारायण सिंह निवासी टीचर्स कालोनी के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज किया गया है। आरोपित के गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।

मुकदमा दर्ज कराने को आधी रात तक थाने में लगी रही भीड़

सोमवार की देर शाम को पीड़ित छात्रा के पिता ने थाने में तहरीर दिया। पुलिस जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कही तो पीड़िता के पक्ष में दर्जनों लोग थाने पर पहुंच गए। केस दर्ज करने लिए रात लगभग 12 बजे तक जद्दोजहद चलती रही लेकिन एक पूर्व विधायक की मौजूदगी में मुकदमा दर्ज किया गया।

पांच तक मान्यता, आठवीं की चलती है कक्षा

नगर के वार्ड नंबर चार केशोपुर में संचालित मां सरस्वती शिशु मंदिर को शिक्षा विभाग की कक्षा पांच तक ही मान्यता दी गयी। विद्यालय प्रबंधन नियमों को ताख पर रख कर कक्षा आठवीं तक की कक्षा चला रहा था। बीईओ विजय ओझा ने कहा कि कक्षा पांच तक की मान्यता है लेकिन आठ कक्षा तक संचालित होने की बात सामने आने पर जांच की जा रही है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप