पीसीएस में गोरखपुर के होनहारों ने लहराया परचम, बताया सफलता का मंत्र Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा (पीसीएस) 2017 की सफला सूची में बड़ी संख्या में गोरखपुर के होनहारों का नाम दर्ज है। गुरुवार को अंतिम परिणाम घोषित होने के बाद से ही सफल अभ्यर्थियों को बधाई-शुभकामनाएं देने का सिलसिला जारी है। सफल अभ्यर्थियों मेें कई आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से हैं, लेकिन अपनी मेहनत के बूते उन्होंने अपना सपना पूरा कर पाने में सफलता पाई है।

प्राइवेट स्‍कूल में शिक्षक हैं योगेश कुमार के पिता

चरगावां विकासखंड के ग्राम पंचायत बरौली निवासी योगेश कुमार का डिप्टी कलेक्टर बनने का सपना पूरा हो गया। योगेश ने पहले ही प्रयास में यह सफलता पाई है। पहले ही प्रयास में एसडीएम के रूप में चयन होने पर पूरा गांव ढोल नगाड़ों की थाप पर झूम उठा । योगेश के पिता सीताराम गौड़ नाहरपुर में एक प्राइवेट स्कूल में शिक्षक हैं। शुक्रवार को स्थानीय लोगों ने योगेश की इस सफलता पर जश्न मनाया। सभी ने ढ़ोल-नगाड़ों के साथ योगेश को बधाई दी।

सहायक नगर आयुक्त बने वैभव त्रिपाठी

टीकर गांव सोहगौरा, गोरखपुर निवासी वैभव त्रिपाठी पुत्र स्व. पारस नाथ त्रिपाठी का प्रथम प्रयास में सहायक नगर आयुक्त के पद पर चयन हुआ है। सहायक नगर आयुक्त के चयन से पूर्व वैभव त्रिपाठी सेंट्रल एक्साइज एंड कस्टम विभाग में इंस्पेक्टर के पद पर 2012 से कार्यरत हैं।

ट्रेजरी ऑफिसर पद पर हुआ अभिनय का चयन

शहर के जेल रोड शाहपुर के रहने वाले अभिनय सिंह अब ट्रेजरी ऑफिसर के रूप में सेवाएं देंगे। रीता और अशोक कुमार सिंह के पुत्र अभिनय का चयन इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट में सहायक समीक्षा अधिकारी पद के लिए और पैरामिलिट्री फोर्स में असिस्टेंट कमांडेंट पद के लिए हो चुका है।

एक बेटी की मां हैं नमिता

सीवान, बिहार में जिला प्रोबेशन अधिकारी पद पर सेवारत गोरखपुर के बख्शीपुर की रहने वाली नमिता शरण अब उत्तर प्रदेश में जिला खाद्य विपणन अधिकारी के रूप में सेवाएं देंगी। एक बेटी की मां नमिता ने शादी के बाद भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी सतत जारी रखी। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय माता गीता शरण, पिता सत्येंद्र शरण और पति शिशिर सिन्हा को दिया है।

सचिन बने सहायक सेवायोजन अधिकारी

शहर के मेधावी युवा सचिन चौधरी पुत्र अनिल चौधरी ने सहायक सेवायोजन अधिकारी पद पर चयन पाने में सफलता प्राप्त की है। सचिन इससे पहले सहकारिता निरीक्षक पद पर चयनित हो चुके हैं और वर्तमान में जंगल कौडिय़ा ब्लाक में पदस्थ हैं। सचिन मूलत: महराजगंज जिले के ग्राम तरैनी, सुखुआनी के रहने वाले हैं। उन्होंने अपनी तैयारी गोरखपुर में रहकर ही की।

संजय पांडेय बने डीपीआरओ

कैंपियरगंज क्षेत्र स्थित बानगांव निवासी संजय कुमार पांडेय का चयन इस वर्ष डीपीआरओ पद पर हुआ है। वह वर्तमान में नायब तहसीलदार, बरहज के पद पर सेवारत हैं। संजय ने सफलता का मंत्र ईमानदार कोशिश, सतत अध्ययन और लगन को बताया है।

पीओ के बाद अब सीटीओ बने नितीश त्रिपाठी

यूपी पीसीएस 2017 में सफलता पाने वाले होनहारों में एक नाम शहर के हरिहरपुरम क्षेत्र निवासी नितीश त्रिपाठी का भी है। नीलम व मुकुंद त्रिपाठी के पुत्र नितिश वाणिज्य कर अधिकारी पद पर चयनित हुए हैं। वर्तमान में वह भारतीय स्टेट बैंक में प्रोबेशनरी अधिकारी के रूप में पदस्थ हैं।

डॉ. पूजा पाल ने लगाई हैट्रिक

मार्केटिंग अफसर और जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी पद पर चयनित होने के बाद अब डॉ. पूजा पाल का चयन वाणिज्य कर अधिकारी पद पर हुआ है। एक के बाद एक परीक्षाओं में पूजा की सफलता से पूजा की मां शीला, पिता इंद्रसेन बहादुर और भाई शिवेंद्र सहित सभी परिजनों में खासा उल्लास है। पूजा को इस परीक्षा की तैयारी में एडीजे बृजेश का मार्गदर्शन मिला।

पहली बार में श्रेया मिश्रा बनी पंचायत राज अधिकारी

पहली ही प्रयास में पीसीएस में सफलता पाने वालों में श्रेया मिश्रा का भी नाम है। श्रेया ने जिला पंचायत राज अधिकारी पद पर चयनित होने में सफलता पाई है। मूलत: संतकबीरनगर जिले के ग्राम महुली की रहने वाली कुमकुम मिश्रा और परशुराम मिश्र की होनहार बेटी श्रेया डीटीआइ देहरादून से एमटेक में गोल्ड मेडलिस्ट रही हैं।

अतुल बने नायब तहसीलदार

गोरखपुर के आरटीओ भीमसेन सिंह के बेटे अतुल सेन सिंह भी पिता के मार्गदर्शन में अब प्रशासनिक सेवा के लिए चयनित हुए हैं। यूपी पीसीएस 2017 में अतुल का चयन नायब तहसीलदार पद पर हुआ है। अतुल ने सफलता के लिए ईमानदार कोशिश, सतत अध्ययन और लगन को जरूरी बताया है।

शिक्षक थीं संगीता यादव

गोला ब्लाक के कुंनवार राजा गांव के पूर्व ग्राम प्रधान रामाश्रय यादव की पुत्री संगीता यादव का चयन बीडीओ पद पर हुआ है। ये वर्ष 2008 से ब्लाक के कलानी गांव में प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात हैं। इनकी प्राथमिक शिक्षा गांव के ही प्राथमिक विद्यालय, हाईस्कूल व इंटर बंशीचंद इंटर कालेज चिलवां, स्नातक की गिग्रा वीएसएवी डिग्री कालेज गोला से ली। इन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को दिया है।

प्रज्ञा पाठक बनीं पुलिस क्षेत्राधिकारी

गोला ब्लाक के देवलापार गांव निवासी रवींद्र नारायण पाठक की पुत्री प्रज्ञा पाठक का चयन पुलिस क्षेत्राधिकारी के पद पर हुआ है। वर्तमान में यह नायब तहसीलदार के पद पर तैनात हैं। इनके बड़े भाई जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी फिरोजाबाद के पद पर तैनात है। इन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने शिक्षक दादा स्व. अवधेश पाठक को देते हुए बताया कि शुरुआती शिक्षा में ही उन्होंने हम लोगों की नींव इतनी मजबूत कर दी थी कि पूरे पढा़ई के दौरान उसका लाभ मिलता रहा।

नायब तहसीलदार बनें नवीन निश्‍चल त्रिपाठी और जितेन्‍द्र सिंह

बांसगांव नगर पंचायत के वार्ड नंबर दो दोनखर निवासी दिलीप कुमार त्रिपाठी के पुत्र नवीन निश्चल त्रिपाठी तथा वार्ड संख्या  सात मरवटिया निवासी दानबहादुर सिंह के पुत्र जितेंद्र सिंह का चयन नायब तहसीलदार के पद पर हुआ है। यह सूचना मिलते ही उपनगर में हर्ष की लहर दौड़ गयी।

प्रियंका सिंह बनी बीडीओ

बांसगांव ब्लाक के भुसवल निवासी ज्ञान सिंह की पत्नी प्रियंका सिंह का चयन बीडीओ पद पर हो जाने से ग्रामीणों में हर्ष है। 

Posted By: Satish Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप