गोरखपुर, जेएनएन।  Coronavirus Gorakhpur News Updates 6 june 2020: महराजगंज में कोरोना जांच के लिए तीन जून को भेजे गए 80 नमूने में से 77 की रिपोर्ट शनिवार को निगेटिव आई है, जबकि तीन की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव मिली है। तीनों परसौनी घुघली, पंडितपुर तथा नेपाल के रहने वाले हैं। इस तरह जिले में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 80 हो गई है। इसमें 30 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि गोरखपुर के कैंपियरगंज थाना अंतर्गत एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। वर्तमान में एक्टिव मरीजों की संख्या 49 है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एके श्रीवास्तव ने बताया कि पाजिटिव मिले मरीज को राजकीय पालिटेक्निक पुरैना कोविड केयर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

 सिद्धार्थनगर में भी कोरोना का एक मरीज मिला, अब तक 142 संक्रमित

सिद्धार्थनगर से भेजी गई बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर से शनिवार को कुल 129 लोगों की रिपोर्ट आई है। इसमें 128 निगेटिव और एक पॉजिटिव है। यह पॉजिटिव बढऩी ब्लाक के ग्राम बरौली का निवासी है। मुंबई से गांव आया है। बुखार की शिकायत मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने इसे शोहरतगढ़ के सुभाष चंद्र बालिका इंटर कालेज में क्वारंटाइन कराया।  सीएमओ डा. सीमा राय ने जानकारी देते हुए बताया कि अब तक पॉजिटिव मरीजों की संख्या 142 हो गई है। इसमें से 93 लोग ठीक हो चुके हैं। अब जिले में 46 एक्टिव केस हैं।

 संत कबीरनगर में एक और कोरोना का मरीज मिला, संक्रमितों की संख्‍या 137 हुई

संत कबीरनगर जनपद में शनिवार को सिर्फ एक व्यक्ति की रिपोर्ट आई है। सेमरियावां ब्लाक के अहिरौली गांव का एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव निकला है। कोरोना निगेटिव की संख्या शून्य रही। इस तरह से जनपद में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्‍या बढ़कर 137 हो गई है। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. मोहन झा ने यह जानकारी दी है।

 कुशीनगर में कोरोना के 10 मरीज मिले, अब तक 50 संक्रमित

कुशीनगर से भेजे गए थ्रोट स्वाब के नमूनों में शनिवार की सुबह 121 की जांच रिपोर्ट मिली। इसमें 111 की निगेटिव व 10 की पाॅजिटिव हैं। इस तरह से जनपद में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 50 हो गई है। सीएमओ डॉक्टर एनपी गुप्त ने बताया गाँवों में स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजी जा रही है। संपर्क में आने वालों को चिह्नित किया जा रहा है। अभी 161 की रिपोर्ट आनी है।

गोरखपुर में कोरोना से अब तक सात मौतें, सभी गंभीर बीमारी से थे पीडि़त

कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है, लेकिन बचाव सभी को करना होगा। अभी तक जनपद में सात कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है, वे सभी किसी न किसी गंभीर बीमारी से पीडि़त थे। इनमें से ज्यादातर मुंबई इलाज कराने गए थे। वहां से संक्रमण लेकर लौटे थे। जिन सामान्य व स्वस्थ लोगों को कोरोना हुआ, वे हंसते-हंसते इस बीमारी को झेल गए और ठीक होकर घर चले गए। 

मृतकों को थी यह बीमारी

पहली मौत नवापार, चिलुआताल के एक बुजुर्ग की हुई थी। उन्हें शुगर व किडनी की बीमारी पहले से थी। संग्रामपुर, खजनी के एक बुजुर्ग का लीवर खराब था और सांस फूलने की बीमारी भी थी। लखना बुजुर्ग, सिकरीगंज के युवक का हार्ट व शुगर का इलाज मुंबई में हो रहा था, वहीं से संक्रमण लेकर लौटा था। इंदरपुर, कैंपियरगंज के एक बुजुर्ग को किडनी, लीवर व शुगर की बीमारी थी। वह भी मुंबई में इलाज करा रहे थे। बेलसड़ी, बड़हलगंज के एक युवक को हार्ट व लीवर की दिक्कत थी। चैनपुर, बड़हलगंज के एक व्यक्ति को लीवर सिरोसिस था। कनइल, बेलीपार के एक व्यक्ति की किडनी खराब थी। इन सभी को गंभीर बीमारियां थीं, जिन्हें कोरोना वायरस ने और गंभीर बना दिया था। इस कारण उनकी मौत हुई।

सिर्फ कोरोना से कोई खतरा नहीं

सीएमओ डा. श्रीकांत तिवारी का कहना है कि सामान्य मरीजों को कोरोना से कोई खतरा नहीं है, फिर भी बचाव सभी को करना है। जिन्हें पहले से गंभीर बीमारियां नहीं थीं, वे बहुत सस्ती दवाओं से ठीक हो गए। गंभीर रूप से बीमार लोगों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।

गोरखपुर में कुल 152 नमूनों की हुई जांच  

गोरखपुर में कुल 152 नमूनों की जांच हुई जिसमें छह पॉजिटिव पाए गए। इनमें दिव्य नगर के दो सगे भाई हैं। इनकी जांच संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एसजीपीजीआइ), लखनऊ में हुई है। बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में हुई जांच में कौड़ीराम के चार संक्रमित पाए गए हैं। अब गोरखपुर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 126 हो गई है। 35 ठीक होकर घर जा चुके हैं। सात की मौत हो चुकी है। 84 का इलाज चल रहा है।

दिव्य नगर निवासी एक युवक (37) अपनी पत्नी व दो बच्चों के साथ मुंबई के लोखंडवाला कांदिवली वेस्ट में रहता है। 10 मार्च को उसके माता-पिता इलाज के लिए मुंबई गए थे। युवक कार से माता-पिता, पत्नी व दो बच्चों के साथ 21 मई को गोरखपुर आ गया। तबीयत खराब होने पर आसपास के मेडिकल स्टोर से दवा ली। इसके बाद जिला अस्पताल गया, वहां से उसका सैंपल जांच के लिए मेडिकल कॉलेज भेजा गया। रिपोर्ट निगेटिव आ गई। तबीयत ज्यादा खराब होने पर छोटा भाई (29) उसे लेकर एसजीपीआइ गया। वहां दोनों के सैंपल लिए गए। बड़े भाई की रिपोर्ट पाजिटिव आने उसे वहीं भर्ती कर लिया गया। छोटा भाई घर आ गया। गुरुवार की देर रात उसकी भी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। उसे यहां रेलवे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कौड़ीराम के सुमही गांव निवासी 60 वर्षीय बुजुर्ग 23 मई को जयपुर से आए थे। महुआ निवासी 32 साल का युवक 19 मई को मुंबई से, तिघरा गांव के टोला कटया निवासी 62 वर्षीय बुजुर्ग 26 मई को दिल्ली से, कोहड़ा गांव निवासी 60 वर्षीय बुजुर्ग 25 मई को गुजरात से आए थे। सभी होम क्वारंटाइन थे। उनका नमूना सर्वोदय इंटर कॉलेज कौड़ीराम में दो जून को लिया गया था। इन सभी की रिपोर्ट शुक्रवार को पॉजिटिव आई है। सभी को मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया गया है।

पूरे परिवार की होगी जांच

दिव्य नगर को सील कर सैनिटाइज किया गया। दोनों सगे भाइयों के परिवार को होम क्वारंटाइन करा दिया गया है। सभी के नमूनों की जांच की जाएगी। परिवार में आठ सदस्य हैं। ऊपरी हिस्से में एक किरायेदार भी रहते हैं।

अब तक की रिपोर्ट

निगेटिव-     2174

पॉजिटिव-      126

स्वस्थ हुए-      35

कुल मौतें-       07

सक्रिय मामले-   84

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस