गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के गीडा क्षेत्र के एकला बाजार निवासी 10वीं के छात्र अभिषेक की हत्या प्रेम संबंध की वजह से की गई थी। दोस्तों ने ही उन्हें मौत के घाट उतारा था। वारदात में चार नहीं बल्कि पांच दोस्त शामिल थे। गीडा पुलिस ने सभी आरोपितों को बाघागाड़ा के पास से सोमवार को गिरफ्तार करने का दावा किया। न्यायिक अभिरक्षा में उन्हें जेल भेज दिया गया।

हादसे मौत की गढ़ी कहानी

एकला बाजार निवासी विजय जायसवाल के पुत्र अभिषेक (20) को शनिवार को दिन में तीन बजे गांव के ही नीरज, मोनू, आकाश व बृजेश घर से बुलाकर ले गए थे। पांच बजे के आसपास चारो दोस्तों में से एक ने उसके बड़े भाई विपुल को फोन कर बताया कि गांव के बाहर बाग में वे टिन शेड के कमरे में बैठे थे। वहीं अभिषेक को करेंट लग गया था। वे लोग उसे जिला अस्पताल ले आए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

दर्ज हुआ हत्‍या का मुकदमा

परिजन शुरू से ही अभिषेक को घर से बुलाकर ले जाने वाले दोस्तों पर हत्या करने का आरोप लगा रहे थे। पुलिस ने चारो को हिरासत में भी ले लिया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला घोंटकर हत्या किए जाने की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने अभिषेक के दोस्तों नीरज, मोनू, आकाश व बृजेश के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। छानबीन में पता चला कि वारदात में एकला गांव का ही रवि भी शामिल था।

हत्या की योजना के तहत की थी अभिषेक से दोस्ती

अभिषेक का एक लड़की से काफी पहले से संबंध था। उसके परिजनों ने कुछ माह पहले अभिषेक के बड़े भाई से इसकी शिकायत भी की थी। इस पर बड़े भाई ने उसे काफी डांटा-फटकारा भी था, लेकिन वह नहीं माना। उसे सबक सिखाने के लिए आरोपितों ने योजनाबद्ध ढंग से अभिषेक से पहले दोस्ती की और भरोसे में उसे बाग में बने टिनशेड के कमरे में ले जाकर मौत के घाट उतार दिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस