गोरखपुर, जेएनएन। पत्‍नी के साथ घर में रह रही सास का दूसरे पुरुष से संबंध बर्दाश्‍त नहीं हुआ तो दामाद ने सास पर चाकू से हमला कर दिया। दामाद ने सास पर ताबड़तोड़ 17 वार किया। घायल सास को अस्‍पताल ले जाया गया जहां उसने दम तोड़ दिया। मामला गोरखपुर के शाहपुर क्षेत्र का है।

थाने पहुंच कर किया समर्पण

शाहपुर क्षेत्र के मोती पोखरा, बशारतपुर में बेटी के घर रह रहीं सुधा देवी को उनके ही दामाद ने चाकू मारकर घायल कर दिया। इसके बाद खुद थाने पहुंचकर समर्पण कर दिया। मामले में पुलिस ने सुधा देवी से अक्सर मिलने आने वाले मोहल्ले के ही एक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया है।

अक्‍सर होता था विवाद

बताते हैं कि उस व्यक्ति के मिलने आने को लेकर सास और दामाद में विवाद होता था। इसी कारण उसने हमला किया। हमले में सास से मिलने आया व्यक्ति भी घायल हो गया। गंभीर रूप से घायल सुधा देवी (50) को पुलिस ने मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया था। वहां से रात में ही डाक्टरों को बिना बताए परिजन उन्हें किसी नर्सिंगहोम में लेकर चले गए जहां उनकी मौत हो गई।

पति कर चुका है दूसरी शादी

मूल रूप से पडरौना, कुशीनगर के सेवक छपरा गांव की रहने वाली सुधा के पति बैजनाथ जायसवाल ने 20 साल पहले ही उन्हें छोड़कर दूसरी शादी कर ली थी। इसके बाद से ही वह किसी तरह से जीवन यापन करती थीं। मोती पोखरा निवासी सुभाष जायसवाल से बेटी ऊषा देवी की शादी होने के बाद वह उसी के घर आकर रहने लगीं। पुलिस के मुताबिक शाहपुर क्षेत्र में ही एल्यूमिनियम फैक्ट्री के पास रहने वाला गोरख उपाध्याय शुरू से ही सुधा से मिलने के लिए उनकी बेटी के घर आता-जाता रहता था। अक्सर रात में वह सुधा के पास रुक भी जाता था।

बच्चों के सवाल से परेशान होकर अंजाम दी वारदात

इस बीच सुभाष और ऊषा के बच्चे हुए। बड़े होने के साथ ही उन्होंने गोरख उपाध्याय के घर आने-जाने, रात में उसके रुकने और नानी के साथ उसके संबंध को लेकर माता-पिता से तरह-तरह के सवाल करने लगे। बच्चों के किसी भी सवाल का जवाब न दे पाने से परेशान सुभाष ने गोरख के घर आने का विरोध करना शुरू कर दिया। इसको लेकर सास और दामाद में विवाद होने लगा। उनमें अक्सर कहासुनी होती थी। खासकर उस दिन जब गोरख घर आता था। 

घटना के बाद चाकू लेकर खुद पहुंचा थाने

इस बीच सुधा देवी से मिलने गोरख उपाध्याय फ‍िर घर पहुंचा। इसके बाद से ही सास और दामाद के बीच कहासुनी शुरू हो गई। विवाद बढऩे पर सुभाष ने चाकू से सास के पेट में ताबड़तोड़ कई वार किए, फिर चाकू लेकर सीधे शाहपुर थाना पहुंच गया। घटना की जानकारी पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने गोरख को भी हिरासत में ले लिया।

संपत्ति हड़पने का आरोप

मामले में मृतका के भाई ने दामाद पर सास की संपत्ति हड़पने के लिए उनकी हत्या करने का आरोप लगाया है। शाहपुर पुलिस ने दामाद के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है।

चाकू से किया था 17 वार

सुभाष ने सुधा देवी के गर्दन, पेट, सीने दोनों हाथ और हथेलियों पर वार किया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि सुधा पर कुल 17 वार किए गए थे।

जायदाद के लिए की हत्या

पश्चिमी चंपारण, बिहार के अन्नातारा, लौकरिया निवासी सुधा देवी के बड़े भाई सुरेंद्र जायसवाल के मुताबिक मोती पोखरा स्थित घर उनकी बहन के नाम था। आरोप है कि दामाद सुभाष उन पर घर अपने नाम करने का दबाव बना रहा था। सुधा तैयार नहीं हुई तो उनकी हत्या कर दी। सुधा से किसी के मिलने आने और उसको लेकर विवाद होने की बात से सुरेंद्र ने इन्कार किया। 

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप