गोरखपुर, जेएनएन। कश्‍मीर के बाहर लजीज कश्मीरी व्यंजनों का लुत्फ उठाने का बेहतर मौका है। गोरखपुर के होटल रेडिसन ब्लू में 12 दिनों तक चलने वाला कश्मीरी फूड फेस्टिवल का शुभारंभ हो चुका है। इसमें कश्मीरी पंडित सेफ रजनी जिंसी के बनाए व्यंजनों को खूब पसंद किया जा रहा है। फेस्टिवल 20 अक्टूबर तक चलेगा।

रजनी जिंसी को मिल रही प्रशंसा

मोहद्दीपुर स्थित होटल के रेस्टोरेंट में प्रवेश करते ही कश्मीर की झलक मिलती है। होटल में ठहरने वाले लोगों को भी 'कश्मीरी पंडित व्यंजन' परोसे गए। सेफ रजनी जिंसी ने बताया कि कश्मीरी पंडित व्यंजनों को देश के हर कोने में काफी प्रशंसा मिलती है। चेन्नई में भी इस खाने को पंसद किया गया। उन्होंने अपनी मां एवं सास से लजीज व्यंजन बनाना सीखा है और समय-समय पर इसमें बदलाव भी किया है।

खूब पसंद किए जा रहे हैं ये व्‍यंजन

उन्होंने बताया कि दम आलू, मैथस (कीमा), तलित गाड (फिश), मटन रोजनजोश सहित सभी व्यंजनों को खूब पसंद किया जाता है। इनमें लहसुन, प्याज मसालों का प्रयोग न के बराबर होता है। उन्होंने कहा कि ये सभी व्यंजन स्वादिष्ट होने के साथ ही स्वास्थ्यवर्धक भी हैं।

फेस्टिवल के शुभारंभ के दौरान होटल के महाप्रबंधक आकाश रॉय सहगल, निदेशक सेल्स एवं मार्केटिंग अभिषेक सिंह, सेफ मुकेश कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे।

सरकार के फैसले से खुश हैं कश्मीरी पंडित

कश्मीरी पंडित रजनी जिंसी ने कहा कि कश्मीर से धारा 370 हटाना स्वागतयोग्य कदम है। कश्मीरी पंडित काफी खुश हैं। अनंतनाग जिले के सात प्रतिष्ठित जागीरदार परिवारों में से एक में जन्मीं रजनी ने बताया कि उनके घर को आग लगा दी गई थी। वह 1994 के बाद से वहां नहीं गई हैं, जम्मू से लौट आती हैं।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप