गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर शहर में इंटीग्रेटड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आइटीएमएस) कंट्रोल रूम से कट रहा चालान सिखों के लिए मुसीबत बन गया है। पग बांधकर बाइक से निकलने वालों का बिना हेलमेट में एक हजार रुपये का चालान काटा जा रहा है। जिसकी शिकायत समुदाय के लोगों ने एसएसपी से की है। मामले का समाधान कराने के लिए पुलिस मुख्यालय से निर्देश मांगे गए हैं।

इन चौराहों पर कट रहा चालान: शहर के गणेश चौक, पैडलेगंज, यूनिवर्सिटी, काली मंदिर, यातायात तिराहा, गोरखनाथ, असुरन, अंबेडकर चौक, कचहरी चौक, शास्त्री चौक सहित 13 चौराहों पर यातायात नियमों की अनदेखी करने वालों का चालान आइटीएमएस कंट्रोल रूम से ही कट जाता है। पिछले एक माह में 10 से ज्यादा सिखों का बिना हेलमेट में चालान कट चुका है। जबकि वे लोग पग बांधकर निकले थे।

एसएसपी से की शिकायत: पुलिस कार्यालय पहुंचे समुदाय के लोगों ने एसएसपी डा. विपिन ताडा को बताया कि पग बांधने की वजह से हेलमेट न लगाने की छूट है। मैनुअल कोई भी पुलिसकर्मी चालान नहीं काटता। आइटीएमएस कंट्रोल रूम से बिना हेलमेट में चालान कट रहा है। एसएसपी डा. विपिन ताडा ने बताया कि पुलिस मुख्यालय को पत्र लिखकर इस संबंध में जानकारी मांगी गई है। निर्देश मिलते ही इस समस्या का समाधान करा लिया जाएगा।

बच्चों को दी गई यातायात नियमों की जानकारी

सड़क सुरक्षा जागरूकता के तहत एमपी इंटर कालेज में प्रार्थना सभा में बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी दी गई। प्रधानाचार्य डा. अरुण कुमार सिंह ने दस दिवसीय सड़क जागरूकता सुरक्षा के विशेष कार्यक्रमों की घोषणा करते हुए कहा कि सड़क पर चलने के लिए हम सभी को यातायात के नियमों की जानकारी होनी चाहिए और उनके पालन के लिए भी सचेष्ट रहना चाहिए।

उन्होंने छात्रों को बताया कि हम सभी को यातायात नियमों का ध्यान रखने हुए सड़क के बाएं चलना चाहिए, दो पहिया वाहन के साथ हेलमेट तथा चार पहिया वाहन के साथ सीट बेल्ट का प्रयोग हर हाल में करना चाहिए। वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग कदापि न करें। वाहन निर्धारित पार्किंग में ही खड़ी करें। वाहनों के कागजात दुरुस्त रखें, अपने वाहन के प्रदूषण स्तर की जांच समय समय पर कराते रहें और प्रमाण पत्र भी साथ रखें। यही छोटी-छोटी सावधानियां बड़ी दुर्घटनाओं से बचा सकती हैं। उन्होंने कहा कि लाल, पीली और हरी बत्ती के संकेतों के अनुसार वाहन चलाएं तथा सड़क पर अतिक्रमण करने वालों को प्रोत्साहित न करें।

इस अवसर पर छात्रों एवं अध्यापकों को प्रधानाचार्य ने सड़क सुरक्षा संबंधी नियमों के पालन करने की शपथ दिलाई।

Edited By: Pragati Chand