गोरखपुर, जागरण संवाददाता : बस्‍ती जिले में वाल्टरगंज पुलिस, स्वाट टीम एवं एंटी नारकोटिक्स टीम के साथ हुई मुठभेड़ में एक अंतरजनपदीय बदमाश घायल हो गया। वहीं बदमाश की ओर से चलाई गई गोली से एक सिपाही भी घायल हो गया। घायल बदमाश को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एसपी ने जिला अस्पताल पहुंचकर घायल से पूछताछ की।

पुलिस टीम ने घेरा तो सुरेंद्र ने कर दी फायरिंग

थानाध्यक्ष वाल्टरगंज दुर्विजय, प्रभारी निरीक्षक स्वाट टीम विकास यादव एवं प्रभारी एंटी नारकोटिक्स टीम योगेश सिंह अपनी टीम के साथ गश्त पर थे। इसी बीच सूचना मिली कि शातिर बदमाश सुरेंद्र जायसवाल उर्फ सुरेंद्र तिवारी निवासी ग्राम थुन्ही बाजार थाना गगहा जनपद गोरखपुर वाल्टरगंज कस्बे के निकट गायघाट पौधशाला के पास बाइक से कहीं जा रहा है। पुलिस टीम ने उसे घेर लिया तो सुरेंद्र ने टीम पर फायरिंग कर दी। जवाबी फायरिंग में उसके दाहिने पैर में गोली लग गई। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वहीं उसकी ओर से चलाई गई गोली वाल्टरगंज थाने के मुख्य आरक्षी राघवेंद्र पांडेय के बायें हाथ को खरोंचते हुए निकल गई। पुलिस ने बदमाश के पास एक देसी तमंचा, एक कारतूस, दो कागज की गड्डी व एक सोने का लाकेट, एक बुलेट मोटर साइकिल और 11,070 रुपये बरामद किए गए हैं। मामले में वाल्टरगंज थाने में बदमाश के विरुद्ध पुलिस टीम पर फायरिंग के साथ ही आर्म्‍स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

कागज की गड्डी थमा उड़ा देते हैं रकम

पूछताछ करने पर गिरफ्तार सुरेंद्र जायसवाल उर्फ सुरेंद्र तिवारी ने बताया गया कि वह कुशीनगर, देवरिया, गोरखपुर, संतकबीरनगर, बस्ती व अयोध्या में वृद्ध महिला, पुरुष जो कि शारीरिक व मानसिक रुप से कमजोर दिखते है, उनके गले से सोने की चेन या सोने की अंगूठी छीन लेते हैं। इतना ही नहीं बैंक के ग्राहक जो गांव के अनपढ़, महिला या पुरुष होते है, उनकी रेकी कर, उन्हें झांसा देकर उनके नोटों की गड्डी को अपने कागज की गड्डी से बदल लेता हैं। कागज की गड्डी के उपर व नीचे असली नोटें लगी होती हैं। बरामद रुपयों के बारे में बताया कि जून में देईपार कस्बे में पंजाब नेशनल बैंक के पास से एक महिला से कागज की एक गड्डी देकर उसके रुपये 14 हजार रुपये ले लिए थे। सोने के लाकेट के संबंध में बताया कि जून में ही मूड़घाट रोड से एक वृद्ध महिला को मूर्ख बनाकर उसकी सोने की चेन व लाकेट लेकर भाग गया।

Edited By: Rahul Srivastava