गोरखपुर, जेएनएन। पर्यटकों की सुविधा के लिए भारत सरकार के निर्देश पर राज्य सरकार ने नई योजना शुरू की है। प्रदेश के सभी होटलों, लॉज, गेस्टहाउस, पेइंग गेस्ट हाउस आदि का पंजीकरण अब पर्यटन विभाग में कराना होगा। सभी जानकारी पर्यटन मंत्रालय की वेबसाइट www.hotelcloud.nic.in पर उपलब्ध रहेगी। 

किसी भी शहर के होटलों के बारे में मोबाइल पर मिल सकेगी जानकारी

इससे पर्यटकों को किसी भी शहर के होटलों के बारे में कहीं भी अपने मोबाइल पर जानकारी मिल सकेगी। क्षेत्रीय पर्यटन‌ अधिकारी रवींद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि पूरे देश में 22 हजार से अधिक, प्रदेेेेश मेंं 2380 व जिले में लगभग सौ होटलों व अन्य आवासीय ईकाइयों की जानकारी पोर्टल पर अपलोड हो चुकी है। सभी होटलों का पंजीकरण अनिवार्य है। इससे होटल समेत अन्य आवासीय इकाइयों की क्षमता, किराया, सुविधाओं की जानकारी अपने मोबाइल पर पर्यटकों को मिल सकेगी। 

होटल उद्योग को भी होगा फायदा

इससे पर्यटकों को तो लाभ मिलेगा ही, होटल उद्योग का भी विकास होगा। पंजीकरण कराने वाली हर इकाई को एक रजिस्ट्रेशन नंबर प्रदान किया जाएगा। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी कार्यालय मेें कार्यरत अपर सांख्यिकी अधिकारी मनीष श्रीवास्तव के मोबाइल नंबर 9616603455 पर जानकारी हासिल की जा सकती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस