गोरखपुर, जेएनएन : आगरा निवासी दो युवकों के कोरोना पाजिटिव मिलने के बाद महराजगंज जिले में सोनौली सीमा पर सतर्कता बढ़ा दी गई है । सुबह छह बजे से नौ बजे तक सीमा सील कर इंडिया गेट, एसएसबी चेकपोस्ट व पुलिस चौकी को सैनिटाइज किया गया। इसके बाद लोगों का पैदल आवागमन बहाल हो सका। तीन घंटे तक सीमा सील होने से दोनों तरफ यात्रियों की भीड़ लग गई। इसके चलते अफरा-तफरी का माहौल रहा। पैदल आवागमन बहाल होने के बाद स्थिति सामान्य हो सकी।

नेपाल प्रशासन ने दोनों को कर दिया था क्‍वारंटाइन

भारत से नेपाल घूमने जा रहे आगरा निवासी दो लोगों की कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आने पर उन्हें नेपाल प्रशासन ने बेलहिया स्थित कैंप में क्वारंटाइन कर दिया था। नेपाल प्रशासन ने जब यह जानकारी सीमा पर तैनात भारतीय जवानों को दी तो भारत की तरफ से सतर्कता बढ़ा दी गई। पुलिस और एसएसबी चेक पोस्ट को सैनिटाइज कराने के लिए टीम बुलाई गई। चौकी प्रभारी सोनौली रितेश कुमार राय ने बताया कि बार्डर पर चौकी और एसएसबी पोस्ट को सैनिटाइज कराने को लेकर कुछ देर के लिए बार्डर पर आवागमन रोका गया था। सैनिटाइज करने के बाद आवागमन बहाल कर दिया गया है।

सीमा खोलने को लेकर पुलिस व एसएसबी में मतभेद

प्रतिदिन रात 10 बजे से लेकर सुबह छह बजे तक सोनौली सीमा सील रहती है। बढ़ती भीड़ को देखते हुए सुबह छह बजे जब पुलिस के जवान आवागमन चालू करने के लिए बैरियर हटाने लगे तो एसएसबी ने उन्हें रोक दिया। इसको लेकर एसएसबी और पुलिस के जवानों के बीच तकरार हो गई। एसएसबी जवान सैनिटाइजेशन की प्रक्रिया पूरी करने के बाद सीमा खोलने पर अड़े थे। जबकि पुलिस भीड़ को देखते हुए पहले ही सीमा खोलना चाहती थी। एसएसबी के असिस्टेंट कमांडेंट संजय प्रसाद और चौकी प्रभारी सोनौली रितेश कुमार राय के बीच आपस में हुई वार्ता के बाद आवागमन तीन घंटे बाद बहाल किया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप