गोरखपुर, जागरण संवाददाता। आंकड़ों में भरपूर मिलने वाली डीएपी खाद की धरातल पर किल्लत है। हर केंद्र पर खाद के लिए मारा मारी मची है। दिन भर लाइन लगाने के बाद भी लोगों को खाद नहीं मिल पा रही है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि किसान ठंड में भी सुबह पांच बजे ही केंद्र पर लाइन में लग रहे हैं। यहां तक की महिलाएं भी घर का कामकाज छोड़कर लाइन में लग रहीं हैं , बावजूद कई समितियों पर मनमानी के चलते किसानों को निराश ही लौटना पड़ रहा है।

जिला प्रशसान भरपूर खाद उपलब्‍ध कराने का कर रहा दावा

जिला प्रशासन किसानों को भरपूर खाद उपलब्ध कराने का दावा कर रहा है। पीसीएफ प्रबंधक के मुताबित जिले में अभी भी 658 मिट्रीक टन डीएपी का भंडारण है। जिले की समितियों पर प्रतिदिन खाद भेजी जा रही है। लेकिन खाद है कि किसानों को नहीं मिल पा रही है। गुरुवार को महराजगंज जिला मुख्यालय सहित कई केंद्रों पर खाद के लिए किसान सुबह से ही लाइन लगाए रहे। दोपहर दो बजे के बाद सचिव ने रैक समाप्त होने की बात कहकर अगले दिन आने का आश्वासन दे दिया।

समितियों पर लग रही है किसानों की भीड

भिटौली संवाददाता के अनुसार साधन सहकारी समिति बेलवा टीकर, बेलवा बुजुर्ग में सुबह सात बजे से ही किसानों की भीड़ उमड़ पड़ी। लेकिन दोपहर बाद यहा पर भी खाद की किल्लत हो गई। सचिव मनोज कुमार यादव व कनक मिश्रा ने बताया कि तीन सौ बोरी खाद आई थी। प्रति एकड़ एक बोरी के हिसाब से खाद का वितरण किया गया है। खाद न मिलने पर निराश तुलसीपुर के किसान वसीम, रामानंद उपाध्याय ने बताया कि दो दिनों से खाद के लिए दौड़ रहे हैं, लेकिन खाद नहीं मिल रही है।

इन समितियों पर नहीं पहुंची खाद

साधन सहकारी समिति भिटौली, सहकारी संघ भिटौली , साधन सहकारी समिति दरौली पर अभी तक खाद न मिलने से इन समिति के गांवों के किसान खाद के लिए परेशान हैं। गुड्डू वर्मा ,राजेंद्र दुबे उर्फ टापर बाबा, संजय पांडेय, मारकंडेय पांडेय, सुग्रीव चौबे, राज बहादुर यादव ,कमलेश लाल श्रीवास्तव ,उमेश लाल श्रीवास्तव, गौरव श्रीवास्तव, विनोद यादव, रमेश लाल ,मुनीलाल, विजय शुक्ल, अमरजीत यादव, मोहन गुप्ता,श्रवण गुप्ता, आबिद अली, रमाशंकर चौधरी, महेंद्र पांडेय, बख्शीश, कैलाश सिंह, रमेश पटेल, बेचई दास पटेल गोपीनाथ पटेल, उत्तरी चंद पटेल, वली मोहम्मद उमाकांत चौधरी आदि ने प्रशासन से इन समिति पर खाद भेजने की मांग की है।

जिले में खाद की कुल उपलब्धता : 658 मिट्रिक टन

24 नवंबर को गोरखपुर से मिली और समितियों को भेजी गई डीएपी खाद की रैक : 3.79 लाख मिट्रीक टन

खाद की उपलब्‍धता भरपूर

सहायक आयुक्‍त निबंधक सहकारिता सवींद्र सिंह ने बताया कि खाद की उपलब्धता जिले में भरपूर है। समितियों पर भरपूर मात्रा में खाद मिले इसको लेकर प्रत्येक दूसरे तीसरे दिन खाद की रैक लग रही है। किसानों को परेशान होने की जरूरत नहीं है।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi