गोरखपुर, जागरण संवाददाता। बांसगांव तहसील के ग्राम सभा करवल उर्फ मझगांवा में प्राथमिक विद्यालय की खाली पड़ी जमीन पर ग्राम प्रधान एवं कुछ अन्य लोगों द्वारा निर्माण कराने का ग्रामीणों ने विरोध किया है। ग्रामीणों का आरोप है कि अवैध रूप से जमीन पर निर्माण कराया जा रहा है। उन्होंने 14 जनवरी को मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी से मिलकर इस मामले की शिकायत की है। मंडलायुक्त ने इस प्रकरण की जांच बांसगांव के एसडीएम को दी है। उन्होंने निर्देश दिया है कि किसी भी दशा में नियम के विरुद्ध कोई कार्य नहीं होना चाहिए।

विद्यालय परिसर में ही संचालित होता है कस्‍तुरबा विद्यालय

मंडलायुक्त को दिए गए ज्ञापन में ग्रामीणों ने बताया कि गांव में प्राथमिक विद्यालय है और वर्तमान में वहां कस्तूरबा विद्यालय भी संचालित हो रहा है। यह स्कूल गोरखपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 29 पर स्थित है। स्कूल के पास ही खाली जमीन है। कई साल पहले जिला परिषद द्वारा वहां पांच दुकानों का निर्माण कराने के लिए आवंटन किया गया था। उसमें से दो दुकानों की जमीन सड़क के चौड़ीकरण के लिए अधिग्रहीत कर ली गई है।

बिना आवंटन के ही रात में निर्माण करा रहे हैं ग्राम प्रधान

ग्रामीणों का आरोप है कि वर्तमान ग्राम प्रधान शनिवार एवं रविवार की रात में बिना आवंटन के ही निर्माण करा रहे थे। ग्रामीणों ने निर्माण कार्य रोक दिया। प्राथमिक विद्यालय के हेड मास्टर संतोष सिंह ने घटना की जानकारी थाने में दी। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस की ओर से भी शिकायतकर्ताओं पर ही दबाव बनाया जा रहा है।

ग्रामीणों ने मामले की जांच कराकर की कार्रवाई की मांग

वहां जबरदस्ती निर्माण का प्रयास किया जा रहा है। ग्रामीणों ने मंडलायुक्त से इस मामले की जांच कराकर जमीन को अवैध कब्जा से मुक्त कराने की मांग की है। कब्जा करने वाले लोगों पर भी कार्रवाई करने की मांग की गई है। ज्ञापन सौंपने वालों में राजेश सिंह, संतोष शुक्ला, संजय कुमार, गोविंद श्रीवास्तव, सुमंत सिंह आदि शामिल रहे।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi