गोरखपुर, जेएनएन। Coronavirus Lockdown Day 3 : लॉकडाउन (संपूर्ण बंदी) में घर-घर सब्जी पहुंचाने का दावा भले किया जा रहा है, लेकिन सब्जियों को खेत से मंडी तक लाने के पुख्ता इंतजाम नजर नहीं आ रहे हैं। कोरोना ड्यूटी पास या विशेष वाहनों के किसानों तक न पहुंचने की वजह से फसल खेत में ही खराब हो रही है। व्यवस्था की इस चूक के चलते किसानों को जहां आर्थिक नुकसान हो रहा है, वहीं डोर स्टेप डिलीवरी अभियान पर ब्रेक लगने की आशंका भी खड़ी हो गई है।

इन जगहों से आतीं हैं सब्जियां

जनपद के कैंपियरगंज, जंगल अयोध्या प्रसाद, सहजनवा, पिपराइच, पिपरौली, ब्रह्मपुर, खोराबार के तकरीबन 7000 हेक्टेयर क्षेत्र में मूली, पालक, चुकंदर, गोभी, सेम, स्ट्राबेरी, बैगन, टमाटर, पत्ता गोभी की खेती की गई है। किसानों का कहना है कि जब मंडी से घर-घर सब्जी पहुंचाने के लिए वाहनों का इंतजाम हो रहा था, उस वक्त यह क्यों नहीं सोचा गया कि मंडी में सब्जियां आएंगी कैसे? पहले मंडी तक सब्जी लाने की व्यवस्था होनी चाहिए फिर वितरण की। जंगल अयोध्या प्रसाद के किसान मोहन कुमार ने कहा कि प्रशासन ने अब तक इस दिशा में कोई पहल या प्रयास नहीं किया है। ऐसे में किसानों का मुनाफा तो दूर पूंजी तक डूबने की नौबत आ गई है।

खेतों में सब्जी की फसल तैयार है। बाजार न मिलने के चलते अब वह खराब हो रही है। सब्जियों को मंडी तक पहुंचाने की व्यवस्था होनी चाहिए। - रामसुमेर, बनौड़ा

एक हफ्ते बाद बड़े पैमाने पर नेनुआ की फसल तैयार हो जाएगी। अगर इसे मंडी में पहुंचाने का इंतजाम नहीं हुआ तो बड़ा नुकसान होगा। - त्रिलोकी, कैली

मंडी में जब सब्जियां खत्म हो जाएंगी तब घरों में किस चीज की डिलीवरी होगी। सब्जी को मंडी तक लाने की पुख्ता व्यवस्था की जानी चाहिए। - प्रमोद चौरसिया, चिकनियाडीह

किसानों को मुनाफा नहीं बल्कि पूंजी की चिंता सता रही है। सब्जियों के लिए जल्द ही बाजार और ढुलाई के लिए साधन का इंतजाम होना चाहिए। - अदालत चौरसिया, मोदीगंज

कुछ किसान सब्जियां लेकर मंडी जा रहे थे, जिन्हें रोक दिया गया। कई के साथ अभद्रता भी हुई, जिसके बाद अब कोई हिम्मत नहीं जुटा रहा है। - जवाहर, बख्तावरनगर

बेमौसम बारिश के बावजूद सब्जी की पैदावार इस बार अच्छी है। लेकिन सब्जियां मंडी में नहीं जा पाईं तो किसान पूरी तरह बर्बाद हो जाएगा। - मुन्नीलाल मौर्य, राजपुर

किसानों को हुआ भारी नुकसान

सब्जी की खेती करने वाले किसानों को इस बार बड़ा नुकसान हुआ है। सब्जी की पैदावार बेहतर होने से उम्मीद थी कि उन्हें अच्छा लाभ होगा, पर सब्जियां बाजार नहीं पहुंचेंगी तो नुकसान तय है। - बलजीत सिंह, अधीक्षक राजकीय उद्यान

सब्जियों को मंडी तक पहुंचाने के लिए जल्द ही टीम बनाकर व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी। किसानों का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। - आरके श्रीवास्तव, एडीएम सिटी

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस