संत कबीरनगर, जेएनएन। संत कबीरनगर जिले के कोतवाली खलीलाबाद थानाक्षेत्र के बाहिलपार गांव में फंदे में लटककर मां-बेटी ने जान दे-दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच-पड़ताल की। परिवार के सदस्यों व गांववासियों से बातचीत की। फिलहाल इनके मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। बहरहाल गांववासी इस प्रकरण को लेकर हतप्रभ हैं। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पुलिस कांस्‍टेबल है पति

जिले के बाहिलपार गांव के निवासी 47 वर्षीय रामनिवास राय तीन भाई हैं। बड़े भाई जगनिवास राय पीएसी में हवलदार के पद पर लखनऊ में तैनात हैं। रामनिवास राय कुशीनगर जिले में हेड कांस्टेबल के पद पर कार्यरत हैं। छोटे भाई श्यामनिवास राय गोंडा जिले में यूपी पुलिस में सब इंस्पेक्टर (एसआइ) के पद पर कार्यरत हैं। हेड कांस्टेबल रामनिवास की केवल एक संतान के रुप में 19 वर्षीय बेटी सौम्या उर्फ बुलबुल राय थी। बुलबुल गोरखपुर सेंट एंड्रयूज कालेज में बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा थी। 40 वर्षीय मां वंदना राय अपनी इस बेटी के साथ गोरखपुर में रहती थी।

पति-पत्‍नी में हुआ था झगड़ा

दो दिन पहले मां-बेटी अपने बाहिलपार गांव में आए थे। ये गांव में स्थित शिव मंदिर में 21 फरवरी को महाशिवरात्रि पर्व पर पूजा-अर्चना की थी। इन्होंने मेले का लुत्फ उठाया था। बताया जाता है कि बीते शनिवार की रात में किसी बात को लेकर पति-पत्नी में विवाद चल रहा था। इससे बेटी भी काफी दुखी थी। इससे नाराज होकर मां-बेटी अपने दो मंजिला मकान के कमरे में छत की कुंडी में दो फंदा लगाकर झूल गई। रविवार की सुबह करीब आठ बजे आवाज देने व खटखटाने पर दरवाजा नहीं खुला। इस पर गांववासियों ने दरवाजा तोड़ा तो देखा कि मां-बेटी फंदे में झूली हुई हैं। इसकी सूचना कोतवाली खलीलाबाद पुलिस को दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस