कुशीनगर : विधानसभा चुनाव 2022 को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने को लेकर जिला पुलिस की ओर से आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों पर नकेल कसने की कवायद तेज कर दी गई है। दो माह में पुलिस द्वारा 27 लोगों की हिस्ट्रीशीट खोली गई है, इनकी निगरानी भी शुरू कर दी है।

भयमुक्त वातावरण तथा अपराधियों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए विभिन्न थानों में दर्ज हत्या, लूट, चोरी, नकबजनी, डकैती, गांजा, गो-तस्करी, अवैध शराब की तस्करी एवं मारपीट के मुकदमों के आरोपितों की निगरानी के लिए यह कार्रवाई की गई है।

चुनाव को लेकर वांछितों की सूची तैयार की जा रही है। उनकी गतिविधियों की भी जानकारी ली जा रही है। इसके अलावा पुलिस ने हिस्ट्रीशीटरों की सूची भी तैयार करनी शुरू कर दी है। कई की हिस्ट्रीशीट भी खोली जा रही है। इन पर दर्ज अपराधों को अंकित किया जा रहा है। दिसंबर 2021 व जनवरी 2022 में 27 आपराधिक छवि के लोगों की हिस्ट्रीशीट खोल इनकी गतिविधियों पर दिन-रात नजर रखी जा रही है। इनके संपर्क में रह रहे लोगों पर भी पुलिस की नजर है। ताकि चुनाव के दौरान किसी तरह की कोई बाधा उत्पन्न न होने पाए।

हिस्ट्रीशीट खोलने का उद्देश्य

हिस्ट्रीशीट खोलने का उद्देश्य आपराधिक व्यक्ति की निगरानी करना है। जिसकी हिस्ट्रीशीट खुलती है, उस पर कई मुकदमे थाने में दर्ज होते हैं। इसे खोलने के लिए संबंधित थानेदार उसके मुकदमों की संख्या, कब-कौन-सी घटना हुई, वर्तमान स्थिति, उसके करीबी व रिश्तेदारों के नाम-पते जैसी जानकारी और उसकी तस्वीर व अंगुलियों के निशान आदि की फाइल तैयार करते हैं। फाइल एसपी के पास भेजी जाती है। फाइल का अध्ययन करने के बाद संबंधित की हिस्ट्रीशीट खोलने की स्वीकृति प्रदान करते हैं। इसके खुलने पर हिस्ट्रीशीटर को गृह क्षेत्र के थाने में जाकर हाजिरी देनी पड़ती है। ऐसा भी होता है हिस्ट्रीशीटर दूसरे शहर में जाकर रह रहा हो तो उसके रिकार्ड को वहां भेजा जाता है ताकि उसकी गतिविधि पर वहीं निगाह रखी जा सके।

एएसपी रितेश कुमार सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने को लेकर यह कार्रवाई की गई है। जिन लोगों की हिस्ट्रीशीट खोली गई है उन पर पुलिस की कड़ी निगाह है। गो-तस्कर व शराब तस्करों को चिह्नित कर उनके विरुद्ध भी हिस्ट्रीशीट खोलने की तैयारी चल रही है।

Edited By: Jagran