गोरखपुर : रियांव गांव के ग्राम प्रधान के घर हमले का आरोपी हिस्ट्रीशीटर बदमाश सुरेंद्र यादव पुलिस पर भारी पड़ रहा है। घटना के एक सप्ताह बाद भी उसकी गिरफ्तारी न हो पाना इसका सबूत है। इस बीच गगहा विकास खंड के प्रधान संघ के प्रतिनिधि मंडल ने गुरुवार को एसएसपी को पत्रक देकर हिस्ट्रीशीटर बदमाश सुरेंद्र यादव की गिरफ्तारी और उसके विरुद्ध गैंगेस्टर की कार्रवाई करने की मांग की है। इस संबंध में पूछे जाने पर एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच की टीम लगाई गई है।

रियांव गांव के श्रीरामपुर टोला निवासी सुरेंद्र गगहा थाने का हिस्ट्रीशीटर बदमाश है। बृजेश शाही की पत्‍‌नी रियांव की ग्राम प्रधान हैं। श्रीरामपुर टोले में उन्होंने एक व्यक्ति के घर सौर्य ऊर्जा लाइट लगवाया है। सुरेंद्र इसका विरोध कर रहा था। आरोप है कि इसी रंजिश में एक सप्ताह पहले रात में नौ बजे के आसपास वह, पांच साथियों के साथ ग्राम प्रधान के दरवाजे पर चढ़ गया। उस समय प्रधान पति गांव के कुछ लोगों के साथ दरवाजे पर बैठकर बातचीत कर रहे थे। हिस्ट्रीशीटर बदमाश और उसके साथियों ने उन पर ताबड़तोड़ फाय¨रग शुरू कर दी। इस हमले में प्रधान पति और उनके साथ के लोग बाल-बाल बचे थे। गोली की आवाज सुनकर ग्रामीणों के एकत्र होने पर बदमाश असलहा लहराते हुए फरार हो गए। इस मामले में मुकदमा दर्ज है।

प्रधान के घर हुए हमले के अलावा उसके विरुद्ध जनपद के कई थानों में हत्या और हत्या के प्रयास जैसे संगीन धाराओं में 16 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। हत्या के एक मामले में निचली अदालत से उसे आजीवन कारावास की सजा भी हो चुकी है। उच्च न्यायालय से जमानत पर है। प्रधान के घर हुए हमले को लेकर प्रधान संघ के पदाधिकारी, जिला पंचायत सदस्य माया शंकर शुक्ल के साथ गुरुवार को एसएसपी शलभ माथुर से मुलाकात की। पत्रक के साथ सुरेंद्र यादव की हिस्ट्रीशीट उन्हें सौंपते हुए उसकी शीघ्र गिरफ्तारी और उसके विरुद्ध गैंगेस्टर की कार्रवाई करने की मांग की है।

By Jagran