गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के खिचड़ी मेला में गोरक्षनाथ मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं के लिए राहत भरी खबर है। गोरखपुर और नकहा से नौतनवां, बढऩी, बस्ती, कप्तानगंज और देवरिया रेलमार्ग पर आधा दर्जन स्पेशल पैसेंजर ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। स्टेशन प्रबंधन ने ट्रेनों का प्रस्ताव तैयार कर मुख्यालय को भेज दिया है। रेलवे प्रशासन की हरी झंडी मिलते ही स्टेशन प्रबंधन ट्रेनों के संचालन को लेकर तैयारी शुरू कर देगा। स्पेशल ट्रेनें कोविड-19 प्रोटोकाल के तहत ही चलेंगी।

गोरखपुर और नकहा से नौतनवां, बढऩी व बस्ती रूट पर चलाई जाएंगी ट्रेनें

स्टेशन डायरेक्टर आशुतोष गुप्ता ने वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक को पत्र लिखकर खिचड़ी मेला ही नहीं मौनी अमावस्या, बसंत पंचमी और महाशिवरात्रि पर्व पर नौतनवां-गोरखपुर, बलरामपुर-बढऩी- गोरखपुर, बेतिया- कप्तानगंज- गोरखपुर, छपरा- देवरिया- गोरखपुर और गोंडा- बस्ती- सहजनवां रूट पर स्पेशल के रूप में पैसेंजर ट्रेनों को संचालित करने का अनुरोध किया है। जानकारों के अनुसार ट्रेनों को चलाने की अनुमति मिलने के बाद जनरल टिकटों की बिक्री और निर्धारित स्टेशनों के काउंटरों को खोलने की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाएगी। जनरल टिकटों की बिक्री के लिए पहले से ही सिस्टम तैयार है। हालांकि, रेलवे बोर्ड ने अभी भारतीय रेलवे स्तर पर पैसेंजर ट्रेनों को चलाने और जनरल टिकटों की बुकिंग पर रोक लगाई हुई है।

अभी बंद है पैसेंजर ट्रेनों का संचालन

दरअसल, कोरोना काल में नौतनवां, बढऩी, बस्ती, कप्तानगंज और देवरिया रूट पर पैसेंजर और डेमू ट्रेनों का संचालन बंद हैं। इन मार्गों पर स्पेशल के नाम पर गिनती की लंबी दूरी की ट्रेनें ही चल रही हैं। यह ट्रेनें भी छोटे स्टेशनों और हाल्टों पर नहीं रुकती हैं। ऐसे में प्रत्येक वर्ष खिचड़ी पर्व पर बाबा गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाने वाले लाखों श्रद्धालुओं की परेशानी बढ़ गई है। उनकी समझ में नहीं आ रहा कि इसबार बाबा को खिचड़ी कैसे चढ़ेगी। खैर, पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए लोकल रूट पर चलने वाली पैसेंजर ट्रेनों को चलाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

रेलवे स्टेशनों पर स्थापित होगी हेल्प डेस्क और हेल्थ बूथ

श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए गोरखपुर और नकहा स्टेशन पर अतिरिक्त व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। ट्रेनों और अन्य साधनों की जानकारी के लिए हेल्प डेस्क तथा हेल्थ बूथ स्थापित होगी। दोनों स्टेशनों पर अतिरिक्त टिकट काउंटर खोले जाएंगे। गोरखपुर में उत्तरी द्वार का टिकट काउंटर भी खुल जाएगा। स्टेशनों पर यात्रियों को ट्रेनों के अलावा अन्य आवश्यक सूचनाएं मिलती रहेंगी। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा। इसके लिए अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती की जाएगी।

किसान आंदोलन के चलते निरस्त रहेगी जननायक स्पेशल

पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते जननायक एक्सप्रेस दो दिन और निरस्त रहेगी। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार 22 दिसंबर को चलने वाली 05211 दरभंगा-अमृतसर तथा 24 दिसंबर को चलने वाली 05212 अमृतसर-दरभंगा स्पेशल एक्सप्रेस नहीं चलेगी। इसके अलावा कुछ ट्रेनों का मार्ग परिवर्तन भी किया गया है।

रोडवेज भी विभिन्न रूटों पर चलाएगा अतिरिक्त 50 बसें, तैयारियां शुरू

खिचड़ी मेला को लेकर परिवहन निगम (रोडवेज) ने भी अपनी तैयारी शुरू कर दी है। श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए गोरखपुर से बस्ती, सिद्धार्थनगर, सोनौली, महराजगंज और ठूठीबारी मार्ग पर 50 अतिरिक्त बसों को चलाने की योजना तैयार की है। खिचड़ी मेला के पहले इन बसों को दुरुस्त करा लिया जाएगा। परिवहन निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक पीके तिवारी के अनुसार कोविड-19 के प्रोटोकाल के तहत प्रयास किया जाएगा कि श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो। आवश्यकता पडऩे पर अतिरिक्त बसों की संख्या बढ़ा दी जाएगी। स्टेशनों को हेल्प डेस्क और हेल्थ बूथ स्थापित किए जाएंगे। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप