गोरखपुर, जेएनएन। CM Yogi Adityanath on Guru Teg Bahadur Martyr Day: सिख धर्मगुरु गुरु तेग बहादुर जी महाराज के बलिदान दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनको नमन किया। गोरखपुर के जटाशंकर गुरुद्वारे में सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर गुरु तेगबहादुर को अधर्म व अत्याचार के विरुद्ध संघर्ष का प्रतीक बताया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महान सिख संत, 'हिन्द दी चादर' श्रद्धेय श्री गुरु तेगबहादुर जी महाराज के बलिदान दिवस पर उन्हें कोटि-कोटि नमन करते हुए विनम्र श्रद्धांजलि। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धेय श्री गुरु तेगबहादुर जी महाराज अधर्म और अत्याचार के विरुद्ध संघर्ष के प्रबल प्रतीक हैं। धर्म, संस्कृति व मानवता की रक्षा को समर्पित उनका संपूर्ण जीवन मानव समाज के लिए प्रेरणा है। मैं आज के अवसर पर गुरु तेग बहादुर जी महाराज के प्रति कोटि-कोटि नमन करते हुए आप सबसे यही कहूंगा कि सिख गुरुओं की जो परंपरा है वह देश व समाज को एक नई प्रेरणा प्रदान करती है, हम उन सबका अनुसरण करें और अपने देश व समाज को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दें।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारे देश में जबरन सनातन धर्म को नष्ट किया जा रहा था। इस दौरान औरंगजेब के शासन काल में गुरू जी बड़ी आवाज बने। उन्होंने औरंगजेब के अत्याचार को मिटाया। औरंगजेब के खिलाफ मजबूती से लड़ाई लड़ी। गुरु तेग बहादुर ने देश की रक्षा की। उन्होंने इस दौरान जबरन धर्मांतरण के खिलाफ आवाज उठाई थी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सिख धर्म के नौवें गुरु तेग बहादुर के त्याग व बलिदान से आज भारत विकास की नई ऊंचाइयां छू रहा है। आज से 347 वर्ष पहले उन्होंने भारत को क्रूर हाथों से मुक्त कराने के लिए अपना बलिदान किया था। सिख गुरुओं से त्याग व बलिदान की प्रेरणा मिलती है। उनसे प्रेरणा लेकर देश व समाज को आगे बढ़ाएं। मुख्यमंत्री गुरु तेग बहादुर के शहीदी पर्व पर सोमवार को गुरुद्वारा जटाशंकर पहुंचे। मत्था टेका और विश्वास व्यक्त किया कि अपने पूर्वजों, संतों, गुरुओं व महापुरुषों से प्रेरणा लेकर समाज आगे बढ़ेगा। 

Edited By: Dharmendra Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट