गोरखपुर। राज्यपाल और प्रदेश के राज्य विश्वविद्यालयों की कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने विश्वविद्यालय के छात्रों को छात्रनेताओं के पीछे घूमकर समय बर्बाद न करने की सलाह दी है। कहा है कि छात्रनेताओं का लक्ष्य पार्षद, विधायक और सांसद बनना है लेकिन छात्रों का लक्ष्य शिक्षा के क्षेत्र में करियर संवारना है। ऐसे में उन्हें इसी दिशा में खुद को केंद्रित करना चाहिए। राज्यपाल सोमावर को मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के सातवें दीक्षा समारोह में बतौर अध्यक्ष संबोधित कर रही थीं।

अगले लक्ष्य के लिए शुरू करें काम

राज्यपाल में बेहतर परिणाम के लिए सामूहिक प्रयास पर जोर दिया है। कहा है कि हमें आनंद और उत्साह के साथ सामूहिक प्रयास से ही उच्च कोटि की सफलता प्राप्त हो सकती है। उन्होंने लगातार काम करते रहने पर जोर देते हुए कहा कि मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय ने बीते दिनों नैक का ग्रेड हासिल कर बधाई का कार्य किया है लेकिन यहां के छात्रों और शिक्षकों को यही पर ठहरना नहीं चाहिए बल्कि अगले लक्ष्य के लिए काम शुरू कर देना चाहिए।

गांव की समस्याओं पर करें शोध

अगर वर्ल्ड रैंकिंग में अपना स्थान बनाना है तो लगातार काम करते रहना होगा। इस अवसर पर उन्होंने विश्वविद्यालय के छात्रों को गांव की समस्याओं पर शोध कार्य करने की सलाह दी। कहा कि छात्र केवल पाठ्यक्रम तक ही सीमित ना रहे बल्कि अपने सामाजिक कर्तव्य व दायित्व को भी समझें। दीक्षा समारोह में उन्होंने महामना मदन मोहन मालवीय के व्यक्तित्व की चर्चा करते हुए कहा कि हमें संस्था की नींव रखने वाले कभी भूलना नहीं चाहिए। राज्यपाल ने बढ़ रहे वृद्धाश्रम पर चिंता जताई और छात्रों से कहा कि वह अपनी अपने माता-पिता का सम्मान करें। उनके प्रति अपने कर्तव्य का पालन जरूर करें।

1290 विद्यार्थियों को प्रदान की उपाधि

दीक्षा समारोह में राज्यपाल ने 1290 विद्यार्थियों को उपाधि प्रदान की और 39 टॉपरों को अपने हाथों से गोल्ड मेडल पहनाया। समारोह में दीक्षांत संबोधन एमजी मोटर्स के प्रबंध निदेशक राजीव चाबा ने दिया। विशिष्ट अतिथि के तौर पर मौजूद प्रदेश सरकार के प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशीष पटेल ने छात्रों को करियर के बेहतरी के टिप्स दिए।

Edited By: Pradeep Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट