गोरखपुर, जेएनएन। अब दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के शिक्षकों के व्याख्यान और उनके द्वारा तैयार किए गए लर्निंग मॉड्यूल्स देशभर के अध्येता, शोधकर्ता व विद्यार्थी देख, पढ़ व सुन सकेंगे। कुलपति प्रो. विजय कृष्ण सिंह ने इस परियोजना के लिए रक्षा अध्ययन विभाग के आचार्य एवं मानद ग्रंथालयी प्रो.हर्ष कुमार सिन्हा को मुख्य समन्वयक नामित किया है।

ई-कंटेंट तैयार कराए जाएंगे

परियोजना के तहत यूजीसी इन्फ्लिबनेट की ई-पाठशाला तथा नेशनल मिशन एजुकेशन थू्र आइसीटी के लिए सभी प्रकार के ई-कंटेंट तैयार कराए जाएंगे। आने वाले दिनों में विश्वविद्यालय के शिक्षकों के लेक्चर वीडियोज और उनके द्वारा तैयार किए गए दूसरे ई-कंटेंट विश्वविद्यालय की वेबसाइट के साथ मानव संसाधन मंत्रालय के निर्देश पर इन्फॉर्मेशन लाइब्रेरी नेटवर्क (इन्फ्लिबनेट) के पोर्टल ई-विद्या पर उपलब्ध होंगे। इसका लाभ देश भर के विद्यार्थी और अध्येता उठा सकेंगे।

शुरू हुईं औपचारिकताएं

प्रो. हर्ष कुमार सिन्हा ने बताया कि विश्वविद्यालय के केंद्रीय ग्रंथालय द्वारा ई-पाठशाला परियोजना से संबंधित औपचारिकताएं विगत जून माह से ही प्रारंभ की जा चुकी हैं। ई-विद्या पोर्टल से संबंधित प्रस्ताव आमंत्रित करने के लिए शीघ्र ही विभागों को विस्तृत परिपत्र भेजे जाएंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस