गोरखपुर, जागरण संवाददाता। यातायात-व्यवस्था को सुगम बनाए रखने के लिए रविवार व सोमवार को शहर में रूट डायवर्जन रहेगा। सुबह आठ बजे से रात में आठ बजे तक कई रास्तों पर चार पहिया वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध रहेगा। टीपीनगर से वाहन सीधे शहर में ना आकर फलमंडी, रुस्तमपुर, पैडलेगंज होते हुए गंतव्य की ओर जाएंगे।

इधर से जाएंगे वाहन

नौसड़ की तरफ से टीपी नगर फल मंडी, रुस्तमपुर चौराहा से बाये मुड़कर जाने वाले वाहन सीधे फल मंडी, रुस्तमपुर से पैडलेगंज चौराहा, मोहद्दीपुर चौराहा, कौवाबाग तिराहा होकर जाएंगे।

पैडलेगंज से छात्रसंघ, विश्वविद्यालय चौराहा, कौवाबाग अण्डरपास होते हुए मेडिकल कालेज को वाहन भेजे जाएंगे।

गोरखनाथ मंदिर जाने वाला यातायात पैडलेगं चौराहा से छात्रसंघ चौराहा, विश्वविद्यालय चौराहा, रोडवेज तिराहा, यातायात तिराहा होते हुये जाएंगे।

मोहद्दीपुर से लेकर नौसढ़ तक रात तक रेंगते रहे वाहन

साल के पहले दिन दोपहर बाद शहर के सभी प्रमुख चौराहों पर जाम लग गया। मोहद्दीपुर, पैडलेगंज, तारामंडल, नौकायन, चिडिय़ाघर, गोरखनाथ मंदिर की तरफ जाने वाले रास्तों पर रात तक वाहन रेंगते रहे। कार से घूमने निकले लोगों को एक किलोमीटर की दूरी तय करने में एक से दो घंटे लग गए। देर शाम तक यातायात पुलिस के जवान जाम खुलवाने के लिए जूझते रहे। यातायात पुलिस के अधिकारी नजर नहीं आए। शाम को स्थिति बिगडऩे पर एसएसपी को खुद सड़क पर उतरना पड़ा। शहर के लोग दोपहर नए साल का जश्न मनाने नौकायन, चिडिय़ाघर और गोरखनाथ मंदिर पहुंचे। दोपहर दो बजे के ग्रामीण इलाके से भी लोग पहुंचने शुरू हुए जिसके बाद शहर में प्रवेश करने के सभी प्रमुख रास्तों पर जाम लग गया।

शाम चार बजे के बाद नौसढ़, टीपीनगर, रुस्तमपुर, पैडलेगंज, तारामंडल रोड, मोहद्दीपुर, कूड़ाघाट, असुरन, धर्मशाला, गोरखनाथ रोड, बरगदवा, खजांची, जेल बाइपास पर जाम लग गया। यातायात व्यवस्था संभालने में लगे यातायात पुलिस के दारोगा व सिपाही जाम खुलवाने में खुद को लाचार महसूस कर रहे थे। शाम छह बजे के बाद स्थिति भयावह हो गई। कूड़ाघाट से रेलवे स्टेशन तक पहुंचने में कार सवारों को दो घंटे का समय लगा। जश्न मनाने के लिए घर से निकले लोग जाम में फंसने के बाद झल्ला उठे। घर लौटने के लिए हाईवे से सटे ल‍िंक रोड की तरफ मुड़े तो वहां भी लंबा जाम लग गया। रात आठ बजे तक पूरा शहर लगा रहा।

लचर रही यातायात पुलिस की व्यवस्था

नए साल पर शहर में भीड़ होने की संभावना पहले से जताई जा रही थी। लेकिन यातायात पुलिस ने इसको लेकर कोई तैयारी नहीं की। एसपी यातायात का प्लान केवल नौकायन केंद्र तक ही सीमित रहा गया। जिसका नतीजा यह रहा कि पूरा शाम चार बजे के बाद शहर के सभी प्रमुख चौराहों पर जाम लग गया। जाम में फंसे लोग यातायात पुलिस की लचर व्यवस्था को कोस रहे थे।

Edited By: Pradeep Srivastava