गोरखपुर, जागरण संवाददाता। Air Service from Gorakhpur: हवाई अड्डा सलाहकार समिति की पहली बैठक सांसद व समिति के अध्यक्ष रवि किशन शुक्ल की अध्यक्षता में सिविल एयरपोर्ट गोरखपुर पर हुई। समिति के पदाधिकारी व सदस्यों ने बैठक में मुख्य रुप एयरपोर्ट के लिए नई भूमि की शीघ्र मंजूरी, पार्किंग के संचालन, एप्रेन के विस्तार, नए सेक्टरों को गोरखपुर से जोड़ने पर चर्चा की।

विस्तार व एयर एशिया की उड़ान शुरू करने को भेजा जाएगा प्रस्ताव

बैठक में तय हुआ कि गोरखपुर एयरपोर्ट का नाम महायोगी गुरू श्रीगोरक्षनाथ के नाम पर करने के साथ ही परिसर में उनकी प्रतिमा लगाई जाए। विस्तारा और एयर एशिया एयरलाइंस को जाेड़कर यात्रियों की सुविधा के लिए गोरखपुर से पुणे, गोवा, चेन्नई और जम्मू की उड़ान शुरू हो। इसका प्रस्ताव शीघ्र ही एयरपोर्ट आथारिटी को भेजा जाएगा। बेंगलुरु की बंद चल रही फ्लाइट को शुरू कराने के प्रस्ताव पर एयरपोर्ट निदेशक ने बताया कि विंटर शेड्यूल में इंडिगो एयरलाइंस उड़ान शुरू करेगी। प्रबंधतंत्र से वार्ता कर ली गयी है। इसके समिति के अध्यक्ष सांसद रवि किशन शुक्ल ने बताया कि एयरपोर्ट आने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए टैक्सी और आटो रिक्शा को एयरपोर्ट से अटैच कर किराया निर्धारित कराया जाएगा।

एप्रेन विस्तार पर भी हुई चर्चा

एयरपोर्ट पर आने वाले यात्रियों के वाहन पार्किंग में खड़ा हो इसके लिए प्रभावी व्यवस्था बनायी जाएगी। बैठक में एप्रेन का कैसे विस्तार हो इस पर भी चर्चा हुई। इस दौरान समिति के उपाध्यक्ष एवं गोरखपुर ग्रामीण से भाजपा विधायक विपिन सिंह, सदस्य एश्प्रा के निदेशक अतुल सर्राफ, भाजपा नेता सत्येंद्र सिन्हा, दुर्गेश बजाज, एयरपोर्ट निदेशक एके द्विवेदी, सीनियर मैनेजर आपरेशन विजय कौशल, इंडिगो एयरलाइंस के मैनेजर गोविंद, स्पाइस जेट एयरलाइंस के मैनेजर राजेश राय, सीओ एयरपोर्ट रमेश चंद्र त्रिपाठी एवं इंस्पेक्टर उमा शंकर यादव मौजूद रहे।

रक्षा मंत्रालय ने दी 42.14 एकड़ भूमि

बैठक के उपरांत हवाई अड्डा सलाहकार समिति के अध्यक्ष सांसद रवि किशन शुक्ल ने बताया कि जल्द ही गोरखपुर में नए एयरपोर्ट का निर्माण शुरू हो जाएगा। रक्षा मंत्रालय ने विस्तार के लिए 42.16 एकड़ भूमि गोरखपुर सिविल एयरपोर्ट को देने का प्रस्ताव मान लिया है।भूमि हस्तांतरित कराने की प्रक्रिया चल रही है।

परिसर में 24 घंटे रहेगी एंबुलेंस

नया टर्मिनल भवन दिसंबर माह तक तैयार हो जाएगा।यात्रियों की सुविधा के लिए एयरपोर्ट परिसर में एंबुलेंस की व्यवस्था किए जाने की मांग समिति के सदस्यों ने रखी। सांसद ने कहा कि सीएमओ से बात कर एंबुलेंस की व्यवस्था कराई जाएगी। अगर नहीं हुआ तो अपनी निधि से एंबुलेंस उपलब्ध कराउंगा।

डीवीओआर लगाने के लिए शुरू हुआ सर्वे

गोरखपुर एयरपोर्ट पर डीवीओआर (वेरी हाई फ्रीक्वेंसी ओमनी रेंज डॉप्लर रडार) लगाने के लिए सर्वेश शुरू हो गया है। दिल्ली से बुधवार को ही इंजीनियरों की टीम पहुंच गई थी। गुरुवार को टीम के सदस्यों ने डीवीओआर लगाने का स्थान चिन्हित किया। एयरपोर्ट पर लग रहा डीवीओआर अत्याधुनिक होने के साथ ही हाई-फ्रिक्वेंसी का होगा। ये सिस्टम को विमानों को रास्ता तो दिखाएगा ही साथ ही एटीसी (एयर ट्रैफिक कंट्रोल) से विमानों को 100 किलोमीटर रेंज तक नियंत्रित कर सकेगा।

Edited By: Pradeep Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट