गोरखपुर, जेएनएन। कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं लेकिन थोड़ी सतर्कता बरत कर हम इस पर विजय प्राप्त कर सकते हैं। यदि जिले की आबादी के 50 फीसद लोग भी रोजाना उचित तरीके से मास्क का प्रयाग करें तो कोरोना के मामलों में एक सप्ताह के भीतर की 80 फीसद की गिरावट देखने को मिलेगी। यह आकलन प्रदेश में कोरोना की स्थिति को लेकर सरकार द्वारा तैयार कराए गए प्रोजेक्शन रिपोर्ट में लगाया गया है। 14 अप्रैल को जब इस रिपोर्ट को तैयार किया गया, उस समय करीब 15 फीसद लोग मास्क का प्रयोग कर रहे थे।

इन जिलों में हुआ आकलन

इस रिपोर्ट में प्रदेश के कुछ चुनिंदा जिलों को शामिल किया गया है। इन जिलों में लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, झांसी, मेरठ, बरेली, रायबरेली, बलिया व गाजीपुर शामिल हैं। इस रिपोर्ट में मुख्य रूप से तीन तरह के परिदृश्य में कोरोना के प्रसार का आकलन किया गया है। 14 अप्रैल को रिपोर्ट तैयार करते हुए मास्क का उपयोग करीब 15 फीसद था। पहले परिदृश्य में मास्क के इसी उपयोग को शामिल किया गया है।

यही स्थिति बनी रही तो कोरोना के मामले लगातार बढ़ते रहेंगे और 30 अप्रैल को एक दिन में 4500 से अधिक केस तक पहुंच सकता है। दूसरे परिदृश्य में 30 फीसद लोगों द्वारा मास्क के प्रयाेग करने की स्थिति में आकलन किया गया है। इसमें 30 अप्रैल को केस की संख्या करीब 2344 हो सकती है। तीसरे परिदृश्य में 50 फीसद लोगों द्वारा मास्क के उपयोग की स्थिति का आकलन किया गया है। यदि 50 फीसद लोग उचित तरीके से मास्क लगाते हैं तो 30 अप्रैल को केस करीब 1300 तक आ जाएगा।

मास्क को लेकर बढ़ी है जागरूकता

रविवार को बंदी के दौरान जागरूकता दिखाते हुए लोग अपने घरों में ही रहे। सोमवार को भी लोगों की सतर्कता नजर आयी। शहर में सोमवार को होने वाली भीड़ गायब थी। सड़कों पर आवागमन काफी कम था। सड़क पर निकलने वाले 90 फीसद से अधिक लोग मास्क लगाए हुए मिले। कुछ लोगों के पास मास्क था तो जरूर लेकिन उसे उचित तरीके से नहीं पहना गया था। मास्क से मुंह व नाक हमेशा ढकी होनी चाहिए। यही जागरूकता बनी रही और इसके साथ बार-बार हाथ धोने की प्रक्रिया अपनायी गई व शारीरिक दूरी का पालन भी किया गया तो निश्चित ही अंतर सामने होगा।

मास्क नियमित रूप से पहना जाए तो कोरोना के मामले बहुत हद तक कम हो जाएंगे। अनुमान के मुताबिक 50 फीसद लोग उचित तरीके से मास्क लगाएं तो कोरोना के मामले में एक सप्ताह में 80 फीसद तक की गिरावट नजर आएगी। अच्छी बात है कि लोगों में जागरूकता आयी है। इसके साथ ही कोरोना से बचाव के लिए निर्धारित प्रोटोकाल का पालन भी जरूरी है। - के. विजयेंद्र पाण्डियन, जिलाधिकारी।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप