गोरखपुर, जेएनएन। ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान कक्षा चार के छात्रों को समझाने के लिए पाकिस्तान का गुणगान करते हुए उदाहरण देने वाली जीएन नेशनल पब्लिक स्कूल की शिक्षिका शादाब खानम ने स्कूल प्रबंधन को नोटिस का जवाब दे दिया है। जवाब में शिक्षिका शादाब खानम ने अपनी सफाई भी दी है। उसने स्वीकार किया है कि संज्ञा का उदाहरण देने के लिए इंटरनेट से अध्ययन सामग्री कॉपी की थी। इसके लिए अभिभावकों से माफी भी मांग चुकी हूं। इसे मानवीय भूल समझकर क्षमा किया जाए।

शिक्षिका के भविष्‍य का फैसला अब जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर

शिक्षिका ने कहा है कि वह विद्यालय में 11 वर्ष से पढ़ा रही है। जिस स्कूल से उसका भरण-पोषण हो रहा है, उसकी छवि खराब करने के बारे में वह सोच भी नहीं सकती है। अभी तक उसके खिलाफ कोई गंभीर शिकायत भी नहीं मिली है। स्कूल प्रबंधन ने शिक्षिका के जवाब को आंतरिक जांच समिति को भेज दिया है। स्कूल के प्रबंधक गोरक्ष प्रताप सिंह ने बताया कि आरोपित शिक्षिका ने नोटिस का लिखित जवाब दे दिया है। जांच कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर शिक्षिका के भविष्य पर फैसला होगा।

यह है मामला

ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान 23 मई को कक्षा चार ए के वॉट्सएप ग्रुप पर अंग्रेजी की शिक्षिका शादाब खानम ने संज्ञा को समझाने के लिए उदाहरण स्वरूप पाकिस्तान का महिमा मंडन किया था। शिक्षिका ने पाकिस्तान हमारी मातृभूमि, पाकिस्तानी पायलट की बहादुरी और पाकिस्तानी सेना में भर्ती होने जैसे शब्दों का प्रयोग किया था। शिक्षिका की इस करतूत से अभिभावक सन्‍न रह गए थे। भाजपा ने शिक्षिका के साथ स्‍कूल प्रबंधन पर भी ऐसी मानसिकता वाली महिलाओं को शिक्षक जैसे अति महत्‍वपूर्ण और गरिमा वाले पद पर नियुक्‍त करने का आरोप लगाया था। हर तरफ से शिक्षिका शादाब खानम और स्‍कूल प्रबंधन की आलोचना हो रही थी। इस तरह की       आलोचनाओं के बाद स्‍कूल प्रबंधन ने शादाब खानम को नोटिस जारी किया था। 

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस