गोरखपुर, जागरण संवाददाता। अंकुर शुक्‍ला हत्याकांड में पुलिस पहले दिन से ही बैकफुट पर नजर आई। जिसकी वजह से मुख्य आरोपित अवधेश साहनी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया।दूसरे आरोपित मनीष कट्टा को पुलिस ने 27 नवंबर को गिरफ्तार कर लिया पर कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया।यह घटना क्यों हुई, अंकुर को कैसे पीटा गया इसका पर्दाफाश पुलिस ने नहीं किया। इसी वजह से पीड़ित पुलिस पर आरोपितों के दबाव में काम करने का आरोप लगा रहे हैं।

यह है मामला

मूल रुप से गगहा के नर्रे खुर्द गांव निवासी महेन्द्र शुक्ला रामगढ़ताल क्षेत्र के रामपुर में मकान बनवाकर परिवार के साथ रहते हैं। वह पूजा-पाठ करके परिवार का भरण-पोषण करते हैं।उनके तीन बेटे राहुल शुक्ला, अंजनेय शुक्ला और सबसे छोटा अंकुर शुक्ला था। 24 नवंबर की देपहर में घर से बाल कटवाने निकले अंकुर की चाकू व राड से हमला करके हत्या कर दी गई।

पुलिस की उदासीनता से हुई अंकुर की हत्या : विनय शंकर

चिल्लूपार के विधायक विनय शंकर तिवारी शनिवार को रामपुर गांव में स्थित छात्र अंकुर के घर पहुंचे। स्वजन से मिलकर ढांढस बंधाया। विधायक ने कहा कि अंकुर की हत्या पुलिस की उदासीनता का परिणाम है।चार माह पहले हत्यारोपित पीड़ित घर में चोरी करते हुए पकड़े गए थे। पुलिस ने कार्रवाई की जगह दबाव बनाकर थाने पर समझौता करा दिया।जिसकी वजह से आरोपितों का मनोबल बढ़ गया और उन्होंने अंकुर की हत्या कर दी।गोरखपुर पुलिस आरोपितों पर कार्रवाई करने के बजाय राजनीतिक दबाव में सरेंडर करवा रही है।जिले में कानून-व्यवस्था धवस्त है। पिछले एक सप्ताह में छह लोगों की हत्या हो चुकी है। उन्होंने पीड़ित परिवार को सुरक्षा एवं आर्थिक मदद प्रदान करने की मांग की है।

झगड़ा छुड़ाने गए मां-बेटे को पीटा,गंभीर

पीपीगंज क्षेत्र के रायपुर गांव में दो पक्षों में हो रहे मारपीट छुड़ाने गए मां-बेटे को चार युवकों ने मारपीट कर लहूलुहान कर दिया। घायलों की स्थिति गंभीर है। रायपुर गांव में 27 नवंबर सुबह दो पक्षों में मारपीट हो रही थी। गांव के अरविंद सहानी व उसकी मां अंजू सहानी बीच बचाव करने गए तो गांव के सोनू,संजय,पहार,अमर एकजुट होकर अरविन्द व उसकी मां अंजू को लाठी डंडे से पीटकर घायल कर दिया।पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मारपीट, तोड़फोड़ का मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही है।

लूट की कोशिश करने वाले आरोपित गिरफ्तार

खजनी पुलिस ने लूट की कोशिश करने वाले दो आरोपितों को 27 नवंबर को टेकवार तिराहे के पास से गिरफ्तार किया। दोपहर बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से जेल भेज दिया गया। खजनी पुलिस के अनुसार दो बदमाशों ने शुक्रवार की रात को बाइक और जेवरात लूटने का प्रयास किया था।पुलिस ने इस मामले में लूट की कोशिश करने का कर शनिवार की सुबह टेकवार तिराहे के पास आरोपितों गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उनकी पहचान भिऊरी गांव निवासी मधुसूदन यादव एवं नकदा गांव निवासी रामकेश के रूप में हुई।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi