गोरखपुर, जेएनएन। शाहपुर क्षेत्र में दिन दहाड़े मांबेटी पर गोली चलाकर बदमाशों ने पुलिस को खुली चुनौती दी है। जिस तरह फिल्मी अंदाज में बेपरवाह होकर पहुंचे बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां दागीं। उनको ठीक से पता था कि मां-बेटी इस रास्ते से जाएंगे। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि पहले से ही बदमाश पीछे लगे थे। स्‍थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि पीछे से आए बदमाश बिल्कुल करीब आ गए। इसके बाद पीछे बैठे शातिर ने दोनों को लक्ष्‍य करके गोली चलाई।

80 के दशक में चर्चा में आया था ज्ञानू का नाम

मां की हत्‍या और बेटी पर जानलेवा हमले की साजिश रचने के आरोप में हिरासत में लिए गए कृष्‍ण चंद उर्फ ज्ञानू तिवारी पुराना आपराधिक इतिहास है। दो पूर्व मंत्रियों के करीबी रहे ज्ञानू का नाम 80 के दशक में तब चर्चा में आया था जब दो बाहुबलियों की हत्‍या के बाद पूर्वांचल की फिजा गरम हो गई थी। इस घटना के बाद शुरू जिले में गैंगवार शुरू हो गया जिसमें कई लोगों को जान अपनी जान गंवानी पड़ी। तब आरोप लगा था कि बदमाशों के लिए मुखबिरी करके ज्ञानू हत्‍या करा देते हैं। शूटर अरेंज करने और साजिश रचने का आरोप मढ़ा गया था। प्रधानाध्‍यापिका की हत्‍या और उनकी बेटी पर जानलेवा हमले में ज्ञानू के पकड़े जाने पर 80 के दशक में हुई घटनाओं का भी जिक्र होने लगा है। निवेदिता को गोली मारने के बाद बदमाश ने उनकी चेन खींच ली थी। जो घटनास्‍थल पर पड़ा था। अधिकारियों का कहना है कि बदमाशों ने पुलिस को भ्रमिक करने के लिए ऐसा किया है, क्‍योंकि पर्स, मोबाइल और उसमें रुखे रुपये सुरक्षित हैं।

विवाद सुलझाने एक जनप्रतिनिध भी आए थे

स्‍थानीय लोगों ने बताया कि जिस रास्ते को लेकर विवाद चल रहा है उसे सुलझाने के लिए एक जनप्रतिनिधि भी आए थे। स्थानीय स्तर के इस जनप्रतिनिधि ने भी निवेदिता की मदद का वादा किया था। पुलिस उनकी भी भूमिका जांच रही है।

घर आने वाले युवक की चल रही है तलाश

पुलिस को छानबीन में पता चला कि निवेदिता के घर एक युवक आता था। घटना के बाद से उसका पता नहीं चल रहा है। बेटे और निवेदिता की मां से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस युवक की तलाश रही है।

पुलिस को मिला घटनास्‍थल का फुटेज

पुलिस को घटनास्‍थल का एक वीडियो फुटेज मिला है। जिसमें बाइक सवार दो युवक दिख रहे हैं। बाइक चला रहे युवक ने लाल शर्ट और नीला जींस पहना है। पीछे बैठे युवक ने सफेद कुर्ता, जींस और हेलमेट पहना है। मोड पर पहुंचने पर निवेदिता को लक्ष्‍य कर दोनों गोली चला रहे हैं। फुटेज की मदद से क्राइम ब्रांच और शाहपुर पुलिस बदमाशों की पहचान करने में जुटी है।

समाजवादी पार्टी ने प्रदेश सरकार पर साधा निशाना

शाहपुर क्षेत्र के बशारतपुर में मां-बेटी को गोली मारे की घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सपा जिलाध्यक्ष नगीना प्रसाद साहनी ने कहा है कि प्रदेश में हत्या और लूट जैसी घटनाएं आम बात हो गई है। कोई सुरक्षित नहीं है। प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर बुरी तरह से विफल साबित हुई है। जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के एक प्रतिनिधि मंडल ने मेडिकल कालेज पहुंचकर घायल का हालचाल लिया और परिजनों से मिलकर ढांढस बंधाया। पार्टी ने घटना का शीघ्र पर्दाफाश करने की मांग की है। जिलाध्यक्ष ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आह्वान पर पार्टी के कार्यकर्ता 21 सितंबर को दिन में 11 बजे से बेरोजगारी और खराब कानून-व्यवस्था के साथ ही भ्रष्टाचार, महिलाओं के साथ होने वाले अपराध तथा लोकतांत्रिक आंदोलनकारियों के उत्पीडऩ के विरोध में तहसील मुख्यालय पर धरना देंगे। इस दौरान राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। मेडिकल कालेज में पीडि़त के परिजनों से मिलने गए प्रतिनिधि मंडल में जिलाध्यक्ष के अलावा दूधनाथ मौर्य, धर्मेंद्र यादव, सुनील आजाद, अर्जुन प्रसाद चौरसिया एडवोकेट, राहुल गुप्त और शंभू नाथ साहनी शामिल थे।

हत्‍यारों की गिरफ्तारी न हुई तो करेंगे प्रदर्शन

कांग्रेस की जिलाध्यक्ष निर्मला पासवान ने कहा कि बशारतपुर में मां-बेटी पर हमला करने वाले अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो कांग्रेस प्रदर्शन करेगी। हमले में मां की मौत हो चुकी है और बेटी जिंदगी के लिए अस्‍पताल में जंग लड़ रही है। उन्होंने पीड़ित परिवार से मुलाकात की। इस दौरान अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद जोसफ भी मौजूद रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस