गोरखपुर, जेएनएन : कुशीनगर के जिला आबकारी अधिकारी राजवीर सिंह के निर्देश पर अवैध शराब के विरुद्ध आबकारी व कोतवाली पुलिस ने नगर से सटे सिंगापट्टी के मुसहर टोली में संयुक्त छापेमारी की। इस दौरान 50 लीटर अवैध शराब बरामद तथा दो हजार किलोग्राम लहन बरामद हुआ। हालांकि धंधेबाज हाथ नहीं आए। पुलिस पांच धंधेबाजों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई में जुटी है।

लहन व शराब बनाने के उपकरण को किया नष्‍ट

आबकारी निरीक्षक गोपालजी श्रीवास्तव के नेतृत्व में टीम दोपहर में सिंगापट्टी के मुसहर टोली पहुंची। टीम के पहुंचते ही अवैध शराब के धंधेबाजों में हड़कंप मच गया। टीम ने अवधू, रमेश, भृगुराशन सहित पांच घरों में छापेमारी कर 50 लीटर अवैध शराब बरामद की। इन घरों से लगभग दो हजार किलोग्राम लहन तथा शराब बनाने के उपकरण बरामद हुए, जिसे टीम ने मौके पर ही नष्ट कर दिया। आबकारी निरीक्षक ने कोतवाली में धंधेबाजों के विरुद्ध तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत कराया। टीम में प्रधान आबकारी सिपाही रमाकांत, परवेज, आबकारी सिपाही राघवेंद्र वर्मा, चौकी इंचार्ज बांसी विजय शंकर सिंह व चौकी के सिपाही शामिल रहे। कोतवाल अनुज कुमार सिंह ने कहा कि आरोपितों की तलाश में दबिश दी जा रही है, जल्द ही सभी गिरफ्त में होंगे।

स्मैक के साथ अंतरराज्यीय तस्कर कसया में गिरफ्तार

कसया पुलिस ने नगर के सपहा मार्ग पर स्मैक के साथ अंतरराज्यीय तस्कर को गिरफ्तार किया है। स्मैक की कुशीनगर व देवरिया में आपूर्ति होनी थी। तस्कर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर पुलिस उसे न्यायालय ले गई, वहां से उसे जेल भेज दिया गया। बरामद स्मैक की कीमत 80 हजार रुपये बतायी जा रही है। नगर चौकी इंचार्ज शैयद वसी हैदर जैदी अपनी टीम के साथ रात्रि गश्त पर थे। सपहां मार्ग पर नहर के समीप एक संदिग्ध युवक को देख पुलिस टीम ने जब उसे पास बुलाया तो वह भागने लगा। पुलिसकर्मियों ने दौड़ाकर उसे दबोच लिया।

तलाशी में झोले से बरामद हुआ 800 ग्राम स्‍मैक

तलाशी के दौरान उसके पास झोले में 800 ग्राम स्मैक बरामद हुआ। पूछताछ में उसकी पहचान संतोष पंडित निवासी इजरहिया रीगा थाना सीतामढ़ी बिहार के रूप में हुई। उसने बताया कि वह स्मैक की आपूर्ति कुशीनगर व देवरिया में करने आया था। प्रभारी निरीक्षक अखिलेश ङ्क्षसह ने बताया कि मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है। गिरफ्तार तस्कर से पूछताछ में कई अहम जानकारियां मिली हैं। इस आधार पर जल्द ही स्मैक तस्करी से जुड़े नेटवर्क का पर्दाफाश किया जाएगा। तस्कर ने स्वीकार किया कि वह यहां पहली बार आया है, इससे पहले गिरोह के दूसरे सदस्य आते रहे हैं।

Edited By: Rahul Srivastava