गोरखपुर, जागरण संवाददाता। किसानों की आय बढ़ाने के लिए उद्यान विभाग देवरिया में प्रधानमंत्री खाद्य प्रसंस्करण सूक्ष्म उद्योग योजना के तहत किसान ऋण लेकर उद्योग लगा सकते हैं। छह लाख से 30 लाख तक किसानों के ऋण पर 35 फीसद तक उद्यान विभाग अनुदान देगा। उद्यान विभाग किसानों की आय बढ़ाने व आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए कदम आगे बढ़ा रहा है। उद्यान विभाग किसानों की सुविधा के लिए ऋण दिलाने में सहायता भी करेगा।

किन उद्योगों पर मिलेगा लाभ

किसान इस योजना के तहत छह लाख से तीस लाख तक का ऋण ले सकते हैं। किसान किस तरह का उद्योग लगाना चाहता है इसके लिए उद्यान विभाग सुझाव भी देगा। जिसमें छोटे से लेकर बड़े उद्योग किसान लगा सकता है। जिसमें अचार उद्योग, मुरब्बा उद्योग, चटनी उद्योग, फ्लोर मिल, बेकरी व मिर्च से संबंधित उद्योग लगा सकता है। किसान की मंशा के अनुरूप उद्योग चयन में भी विभाग सहायता करेगा। इसके साथ ही उत्‍पाद तैयार करने में मदद तथा उत्‍पादों के लिए बाजार भी उपलब्‍ध कराएगा।

किसानों की मदद के लिए तैनात किया गया एक कर्मी

उद्योग लगाने को लेकर किसानों को कोई परेशानी न हो सके इसके लिए जिला उद्यान अधिकारी ने एक कर्मचारी की तैनाती भी की है। वह किसानों को उद्योग के बारे में जानकारी देने के साथ ही बैंक के सारे कार्य कराने में भी मदद करेगा। जिससे किसानों को परेशानी का सामना न करना पड़ा। अधिकांश किसान बैंक में कागजी कार्य पूरा करने की परेशानी को लेकर इससे किनारे हो लेते हैं। किसानों को इस तरह की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए ऐसा किया गया है।

किसान की आय बढ़ाने के लिए उद्यान विभाग कर रहा है पहल

जिला उद्यान अधिकारी सीताराम यादव ने कहा कि विभाग की मंशा है किसान की आए बढ़े। प्रधानमंत्री खाद्य प्रसंस्करण सुक्ष्म उद्योग योजना के तहत 6 लाख से लेकर 30 लाख तक के ऋण पर 35 फीसद तक अनुदान है। जो भी किसान चाहे वह ऋण लेकर उद्योग लगा सकता है।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi