जागरण संवाददाता, गोरखपुर : आरबी इंडिया, दैनिक जागरण पहल और आइटीवी फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में इंसेफ्लाइटिस व अन्य मरीजों के लिए आयोजित तीन दिवसीय स्वास्थ्य शिविर का रविवार को समापन हो गया। गोरखपुर विश्वविद्यालय के संवाद भवन में आयोजित शिविर के तीसरे दिन आइएमए और मेदाता हॉस्पिटल के डॉक्टरों की टीम ने करीब 55 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण कर परामर्श दिया। तीन दिनों में 250 से अधिक मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण कर डेटॉल का हाइजिन किट प्रदान किया गया। बेहतर परामर्श पाकर मरीजों में हिम्मत बंधी है।

रविवार को सुबह आठ बजे से ही शिविर में मरीज को लेकर उनके परिजन पहुंचने लगे थे। विशेषज्ञ डॉक्टरों के परामर्श से मरीजों के परिजन संतुष्ट नजर आए। उनकी जाच की। डॉक्टरों ने स्वच्छता के बारे में विस्तार से बताया। दैनिक जागरण पहल के स्टेट मैनेजर सैय्यद अली नकवी ने कहा कि आरबी इंडिया के साथ मिलकर डेटॉल व्यवहार परिवर्तन की मुहिम लगातार चलाई जा रही है। आने वाले दिनों में गावों में रात्रि चौपाल लगाकर लोगों को जागरूक किया जाएगा। प्रोजेक्ट ऑफिसर डॉ. चिराग बॉम्जन ने इंसेफ्लाइटिस के खिलाफ अभियान व स्वच्छता अभियान के विषय में जानकारी दी।

--

इंसेट

वाल पेंटिंग के माध्यम से फैलायी जाएगी जागरूकता

डेटॉल और दैनिक जागरण पहल की व्यवहार परिवर्तन की मुहिम के तहत 50 गावों की 150 दीवारों पर वाल पेंटिंग के माध्यम से स्वच्छता के प्रति जागरूकता फैलायी जाएगी। चित्र, स्लोगन आदि के माध्यम से स्वच्छता का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। यह अभियान जल्द ही शुरू होगा।

-

इंसेट

वितरित की गई 'हाथ धो के' शिशु पुस्तिका

आरबी इंडिया की ओर से छोटे बच्चों का ध्यान रखने के लिए गावों में 'हाथ धो के' शिशु पुस्तिका वितरित की जा रही है। शून्य से पाच साल के बच्चों की देखभाल और गर्भवती के लिए यह काफी उपयोगी पुस्तिका है। इसमें स्वच्छता को लेकर जागरूक करने वाली काफी बातें हैं।

Edited By: Jagran