गोरखपुर, जागरण संवाददाता। लखनऊ मार्ग से एकला बांध होते हुए राप्ती तट तक दुर्गा प्रतिमाएं लोहे की चादरों पर से गुजरेंगी। नगर निगम प्रशासन ने लोक निर्माण विभाग से किराए पर लेकर लोहे की चादरें बिछवाई हैं। अफसरों का कहना है कि राप्ती तट पर तीन कृत्रिम तालाब बनाने का काम 14 अक्‍टूबर को पूरा करा लिया जाएगा।

राप्‍ती नदी के तट पर की गई है कृत्रिम तालाब की खोदाई

राप्ती नदी के तट पर नगर निगम प्रशासन हर साल दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के लिए तालाब की खोदाई कराता है। नदी से थोड़ी पर पर बनाए गए तालाब में पानी डालकर प्रतिमाओं का विसर्जन कराया जाता है। इस बार नगर निगम प्रशासन ने 50 वर्गमीटर का एक और 40 वर्गमीटर का दो कृत्रिम तालाब बनाया है। इसके साथ ही लखनऊ मार्ग से तालाब तक लोहे की चादरें भी बिछा दी गई हैं।

महेसरा में भी बनाई गई व्यवस्था

महेसरा में भी दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के लिए नगर निगम प्रशासन ने लकड़ी का मंच बनाया है। इस मंच से प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाएगा। विसर्जन स्‍थल पर नगर निगम ने चाकचौबंद व्‍यवस्‍था की है।

विसर्जन रूट पर दुरुस्त कराई गईं सड़कें

गोरखनाथ मंदिर गेट से रसूलपुर, सूर्य विहार ओवरब्रिज से इलाहीबाग हार्बर्ट बांध तक, रेती चौक से घंटाघर, रेती चौक से लालडिग्गी चौराहा तक सड़क की बुधवार को पैचिंग कराई गई। सड़क में बने गड्ढों को भरा गया। नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने पैचिंग कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का अभियान तेजी से चलाया जा रहा है।

एलटी लाइन हटाकर बिछेगा एबीसी

सिंधी कालोनी से रामलीला मैदान तक जाने वाले रास्ते में एलटी लाइन की एबीसी बिछाया जाएगा। बिजली निगम के अधीक्षण अभियंता शहर यूसी वर्मा ने बताया कि बुधवार को वीआइपी रूट का निरीक्षण किया गया। एक जगह एलटी लाइन दिख तो इसकी जगह एबीसी बिछाने को कहा गया।

सफाई और सैनिटाइजेशन का चला अभियान

नगर निगम प्रशासन ने बुधवार को शहर के विभिन्न इलाकों में सफाई और सैनिटाइजेशन का अभियान चलाया। दुर्गा पंडालों के पास विशेष रूप से सफाई कराकर सोडियम हाइपो क्लोराइट के घोल से सैनिटाइजेशन कराया गया। देर शाम फागिंग भी कराई गई।

कालीबाड़ी मंदिर का नगर आयुक्त ने किया निरीक्षण

नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने बुधवार को कालीबाड़ी मंदिर का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को देखते हुए नगर आयुक्त ने पूरे रूट की स्थिति देखी और कर्मचारी की ड्यूटी चेक की। इस दौरान मुख्य अभियंता सुरेश चंद, लेखाधिकारी अमरेश बहादुर पाल आदि मौजूद रहे।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi