कुशीनगर : खड्डा विकास खंड के धनौजी गांव के मतदाता इस बार जिला पंचायत सदस्य पद के लिए मतदान नहीं कर पाएंगे। इस गांव को जिला पंचायत सदस्य के किसी भी वार्ड में शामिल नहीं किया गया। गांव में 883 मतदाता हैं, वर्ष 2015 में हथिया ग्राम पंचायत के राजस्व गांव धनौजी को अलग कर ग्राम पंचायत बनाया गया था।

स्थानीय लोगों ने बताया कि उस समय यहां के मतदाताओं ने ग्राम प्रधान के साथ ही ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत व जिला पंचायत सदस्य के वार्ड नंबर छह खड्डा पूर्वी के लिए मतदान किया था। वर्ष 2021 के चुनाव में अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही से यह गांव किसी भी वार्ड में शामिल नहीं हुआ। खड्डा ब्लाक के तीन गांव बुलहवा, पनियहवा व छितौनी को मिलाकर नगर पंचायत बना दिया गया है। जिला पंचायत सदस्य के वार्ड में फेरबदल के दौरान धनौजी गांव किसी भी जिला पंचायत सदस्य के वार्ड में सम्मिलित नहीं किया गया। इसकी जानकारी तब हुई जब गांव के अनिल यादव रविवार को एक जिला पंचायत सदस्य के उम्मीदवार के प्रस्तावक के रूप में नामांकन कराने जिला मुख्यालय पहुंचे। अधिकारियों ने वार्ड नंबर आठ के गांवों की मतदाता सूची में उनका नाम नहीं होने की बात कह कर वापस कर दिया। उसके बाद अनिल खड्डा ब्लाक के जिला पंचायत सदस्य के सभी वार्डों की मतदाता सूची में अपने गांव का नाम ढूंढे लेकिन किसी भी वार्ड में धनौजी गांव शामिल नहीं है।

एसडीएम अरविंद कुमार ने कहा कि किसी गांव को जिला पंचायत सदस्य के वार्ड में शामिल न किया जाना गंभीर बात है। चूक किस स्तर पर हुई है इसे दिखवाया जाएगा। प्रकरण को जिलाधिकारी के संज्ञान में डाला जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप