गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर जिले में दो शव मिलने से सनसनी फैल गई। पहला शव डुहिया गांव के पास राप्ती नदी में मिला। छानबीन करने पर पता चला कि शव महराजगंज जिले के फरेंदा निवासी रामकेवल का है। वह पांच दिन से लापता थे। स्वजन अनहोनी की आशंका जता रहे हैं। खोराबार पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह है मामला

महराजगंज जिले के फरेंदा थाना क्षेत्र स्थित महदेवा बुजुर्ग निवासी रामकेवल मजदूरी कर परिवार की जीविका चलाते थे। पांच दिन पहले घर से निकले तबसे लापता थे। स्जवन खोजबीन कर रहे थे। शाम को डुहिया गांव के पास राप्ती नदी के किनारे शव मिला। दाहिने हाथ पर गोदना से रामकेवल लिखा था।वाट्सएप ग्रुप पर पुलिस ने फोटो शेयर किया। खोजबीन में जुटे स्वजन को जानकारी हुई तो वह शुक्रवार की सुबह खोराबार थाने पहुंचे। फोटो देखकर शव की पहचान की। रिश्तेदारों ने बताया कि फरेंदा थाने के पास रामकेवल की दो डिसमिल भूमि थी।दो माह पहले गांव के एक व्यक्ति ने 80 हजार रुपये में भूमि बैनामा करा लिया था। जानकारी होने पर पत्नी ने आपत्ति जताई थी। परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटे हैं।पिता व भाई की पहले ही मौत हो चुकी है। प्रभारी निरीक्षक थाना खोराबार कल्याण सिंह सागर ने बताया कि मामले की जांच चल रही है।मजदूर की मौत कैसे हुई पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट होगी।

झाड़ी में मिला नेपाली युवक का शव, हत्या की आशंका

नंदानगर अंडर पास के पास झाड़ी में शुक्रवार की दोपहर नेपाली युवक का शव मिला। वह सैनिक बिहार कालोनी में स्थित निजी स्कूल की बस चलाता था। हत्या करने के बाद शव को झाड़ी में फेके जाने की आशंका जताई जा रही है।फोरेंसिक टीम के साथ पहुंची कैंट थाना पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

जेब में मिले कागजात से हुई पहचान

अंडरपास के पास नीचे झाड़ी में शुक्रवार की दोपहर स्थानीय लोगों ने एक युव का शव देखा। डायल 112 पर सूचना देने पर पहुंची पुलिस ने छानबीन शुरू की। जेब में मिले कागजात से उसकी पहचान नेपाल के बुटवल मैनिया निवासी शिवा थापा के रूप में हुई। जेब में मिले स्कूल के मोबाइल नंबर पर बात करने पर पता चला कि शिवा थापा नंदानगर में किराए का कमरा लेकर अपने पिता के साथ रहता था। वह सैनिक बिहार सेक्टर बी कालोनी में स्थित एक निजी स्कूल की बस चलाता था उसके पिता श्याम थापा बस पर हेल्पर थे। श्याम थापा ने बताया कि शिवा दो भाइयों में छोटा था। 10 वर्ष पहले नंदानगर में हुए हादसे में बड़े बेटे की मौत हो गई थी।

क्या कहती है पुलिस

प्रभारी निरीक्षक थाना कैंट शशिभूषण राय ने बताया कि युवक शराब पीने का आदी था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह स्पष्ट न होने पर डाक्टर ने बिसरा सुरक्षित किया है।

Edited By: Pragati Chand

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट