गोरखपुर, जेएनएन। बेलीपार थाना अंतर्गत ग्राम पिपरी में सुबह आठ बजे प्रेमी संग रहने की जिद बहू पर भारी पड़ गई। इसको लेकर पहले सास व बहू में मारपीट हुई। इसके बाद ससुर ने डंडे से पीटकर बहू को मार डाला। झंगहा के मूल निवासी 55 वर्षीय रमाकांत गोस्वामी ने पांच वर्ष पहले बेलीपार क्षेत्र के पिपरी गांव में जमीन खरीदी और मकान बनाकर पत्‍‌नी, बेटे व बहू के साथ रहने लगे। रमाकांत का इकलौता पुत्र राहुल गोस्वामी करीब एक वर्ष पहले रोजगार के लिए दुबई चला गया।
राहुल के विदेश जाने के बाद उसकी पत्‍‌नी 25 वर्षीय शशि का पड़ोस में रहने वाले आरिफ से प्रेम संबंध हो गए। प्रेम परवान चढ़ा और बीते नौ अगस्त को शशि, प्रेमी आरिफ के साथ घर से भाग गई। दो दिन बाद राजघाट पुलिस ने शशि को पकड़ा और महिला थाने के हवाले कर दिया। इसकी जानकारी होने पर रमाकांत महिला थाने पहुंचे। महिला थाना प्रभारी के सामने शशि ने ससुर को लिखकर दिया कि अब वह प्रेमी आरिफ से संबंध तोड़ लेगी और घर में बहू की तरह रहेगी। समझौते के बाद रमाकांत बहू शशि को महिला थाने से लेकर घर पहुंचे।
दो दिन शशि घर में ठीक से रही पर तीसरे दिन फिर अपने प्रेमी के साथ रहने की जिद पर अड़ गई। इसको लेकर सुबह बहू की अपने सास-ससुर से तकरार हुई। ससुर रमाकांत ने महिला थाने में हुए समझौते का हवाला दिया लेकिन बहू ने एक नहीं सुनी और कहा कि प्रेमी के बिना वह एक पल भी नहीं रह सकती। बात बढ़ गई और सास व बहू में मारपीट होने लगी। इसी बीच ससुर ने डंडे से पीटकर बहू को मार डाला। घटना के समय शशि का पांच वर्षीय पुत्र शिवा स्कूल गया था। स्कूल से शिवा घर लौटा तो मां के शव से लिपटकर फफक पड़ा। परिजनों ने शिवा को संभाला और ढांढस बंधाया। घटनास्थल के निरीक्षण के बाद पुलिस अधीक्षक दक्षिणी विपुल श्रीवास्तव ने बताया कि उरुवा थाना अंतर्गत गजपुर निवासी व मारी गई शशि के भाई अर्जुन गोस्वामी की तहरीर पर सास आशा देवी व ससुर रमाकांत के खिलाफ हत्या की धारा में केस दर्ज कराया है। हत्यारोपित ससुर रमाकांत को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि प्रेमी आरिफ को पकड़कर थाने लाया गया है। पूछताछ में गिरफ्तार रमाकांत ने कहा कि घर की इज्जत की खातिर ऐसी घटना हो गई।