गोरखपुर, जेएनएन। नकलविहीन परीक्षा कराने का गोरखपुर विश्वविद्यालय का वादा-दावा परीक्षा शुरू होने से पहले ही सवालों में घिर गया है। विवि ने पिछले वर्ष जिन कॉलेजों में नकल होने की बात कहते हुए डिबार किया था, इस बार फिर उन्हें केंद्र बना दिया है। सोमवार को हुई परीक्षा समिति की बैठक में पहले से काली सूची में शामिल कॉलेजों में परीक्षाएं कराने को हरी झंडी दी गई।

विवि परीक्षा समिति ने सत्र 2017-18 की परीक्षा के दौरान नकल होने की पुष्टि होने पर 15 कॉलेजों को काली सूची में डाल दिया था। इनमें नौ कॉलेज देवरिया, गोरखपुर व कुशीनगर के तीन-तीन कॉलेज शामिल थे। विवि के नियमानुसार इन कॉलेजों में जिस प्रश्नपत्र की परीक्षा के दौरान नकल हुई थी, उसमें शामिल परीक्षार्थियों के 30 फीसद अंक काटकर रिजल्ट घोषित किया गया। यही नहीं इन कॉलेजों को दंड देते हुए तय हुआ कि इन कॉलेजों को एक वर्ष तक केंद्र नहीं बनाया जाएगा। अब सत्र 2018-19 की परीक्षा का वक्त आया तो विवि प्रशासन फैसले से पीछे हट गया। तर्क दिया जा रहा है कि इन कॉलेजों में छात्राएं पढ़ती हैं, जिनके लिए स्वकेंद्र परीक्षा व्यवस्था लागू है। ऐसे में उन्हें दूर नहीं भेजा जा सकता। इसके अलावा एक अन्य तर्क विवि के आर्डिनेंस का भी है, जिसके मुताबिक परीक्षार्थियों के 30 फीसद अंक पहले ही काटे जा चुके हैं। ऐसे में दोहरा दंड देना उचित नहीं होगा।

बुद्ध पीजी कॉलेज में तैनात होगा पर्यवेक्षक

पिछले वर्ष के पर्चा आउट प्रकरण में जिस बुद्ध पीजी कॉलेज, कुशीनगर की भूमिका संदिग्ध पाई गई थी, इस बार भी वहां परीक्षा होगी। यही नहीं केंद्राध्यक्ष भी डॉ. अमृतांशु ही होंगे। हालांकि सावधानी बरतते हुए विवि यहां एक पर्यवेक्षक तैनात करेगा। पर्चा आउट की जांच विवि स्तर से पूरी हो चुकी है और विवि ने रिपोर्ट एसटीएफ को सौंप दी है। पर्यवेक्षक नियुक्त करने का निर्णय देवानंद पीजी कॉलेज, मठलार देवरिया के संबंध में भी हुआ है।

यह थे काली सूची में, अब होगी यहां परीक्षा

भैरव प्रसाद मौर्य स्मारक महिला महाविद्यालय, विशुनपुरा पिपरासंडी, जानकी देवी डिग्री कॉलेज भेड़सा खजनी, सरस्वती देवी स्मारक कन्या महाविद्यालय भौरहिवां (सभी गोरखपुर)। एसडी मेमोरियल महाविद्यालय, नौतम, मां फूलपति देवी महिला महाविद्यालय डुमरी रामपुर कारखाना, सिद्धेश्वर शीतलदेव नारायन महाविद्यालय, भरहे चौरा भटनी, दिनेश चंद्र गीता महाविद्यालय बरुआडीह बैकुंठपुर, रमेशचंद्र राव महाविद्यालय, रामपुर, रामराय पीजी कॉलेज, बनकटा, सीता देवी महाविद्यालय भटनी, डॉॅ. राम मनोहर लोहिया महाविद्यालय मालीवारी शाहपुर एवं जयशंकर कलावती देवी महिला महाविद्यालय, सल्लहपुर भटनी (सभी देवरिया)।

बद्री नारायण महाविद्यालय, गायघाट पडरौना, विश्वनाथ सरस्वती महिला महाविद्यालय, दुदही, श्री राम अवध निषाद महाविद्यालय, खोटही (सभी कुशीनगर)।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप