महराजगंज: साइबर अपराधियों पर नकेल कसने के लिए महराजगंज पुलिस ने तैयारियां पूरी कर ली हैं, इसके लिए जहां प्रत्येक थाने में साइबर हेल्प डेस्क की स्थापना की जा रही है, वहीं विभाग द्वारा इंस्पेक्टर से लेकर सिपाही तक का विशेष प्रशिक्षण भी शुरू करा दिया गया है। इनमें कंप्यूटर आपरेटर भी शामिल हैं।

पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने बताया कि साइबर अपराध की जागरूकता के लिए सभी थानेदारों के अलावा चार उपनिरीक्षक, चार आरक्षी और महिला आरक्षियों को दक्ष बनाने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। 15 से 30 सितंबर तक जूम एप के जरिये आनलाइन साइबर प्रशिक्षण का कार्यक्रम संचालित होगा। हर थाने में नियुक्त कंप्यूटर आपरेटर, महिला हेल्प डेस्क पर तैनात महिला आरक्षी, थाने के चार उपनिरीक्षक व चार आरक्षी के साथ-साथ रेंज साइबर थाने के सभी पुलिसकर्मी हिस्सा लेंगे। इस प्रशिक्षण में साइबर विशेषज्ञ आनलाइन आधारभूत साइबर प्रशिक्षण देंगे। साइबर अपराध के बदलते तरीकों व खासकर साइबर फ्राड के मामलों की जानकारी देंगे। इनकी रोकथाम के लिए उठाए जाने वाले कदमों से लेकर साइबर अपराध की विवेचना की बारीकियों को समझते हुए इंटरनेट मीडिया व आइटी एक्ट के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।

--

थाने से ही होगा साइबर मामलों का निस्तारण

महराजगंज: पहले आनलाइन ठगी होने के बाद शिकायत के लिए फरियादियों को प्रार्थनापत्र देने जिला मुख्यालय जाना पड़ता था, लेकिन प्रशिक्षण पूरा होने के बाद थाना स्तर से ही ऐसे मामलों के समाधान का प्रयास किया जाएगा।

--

नाबालिग से छेड़छाड़ का आरोपित गिरफ्तार

बृजमनगंज:

छेड़छाड़ व पास्को एक्ट के आरोपित अभियुक्त बैजनाथ निवासी बचगंगपुर टोला विशेषरपुर को पुलिस ने गुरुवार को उसके गांव से गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्त ने कुछ दिन पूर्व एक नाबालिग बालिका के साथ छेड़छाड़ का प्रयास किया था। तहरीर के बाद छेड़छाड़ व पास्को एक्ट में मुकदमा दर्ज कर पुलिस उसकी तलाश काफी दिनों से कर रही थी। सूचना के आधार पर पुलिस ने उसे गांव से ही गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार करने करने वाली टीम में उपनिरीक्षक हरिकिशोर मिश्र व सुरेंद्र यादव आदि शामिल रहे।

Edited By: Jagran