गोरखपुर, जेएनएन। दिवाली से पहले पेंट बाजार गुलजार हो गया है। जीएसटी (माल एवं सेवाकर) में कमी ने खरीदारों को अच्छा मौका दे दिया है। पिछले साल की तुलना में इस साल बिक्री में 20 फीसद से ज्यादा इजाफा होने से दुकानदार खुश हैं।

घरों पर दिवाली का रंग चढ़ाने का काम तेजी से चल रहा है। चूना अब गुजरे जमाने की बात हो गई है। नए जमाने में प्लास्टिक कोटेड इमल्सन की डिमांड है। घर हो या ऑफिस हर जगह इसी को लगाया जा रहा है।

क्रीम, बादामी और पिंक की डिमांड

बाजार में क्रीम, बादामी और पिंक कलर के पेंट की डिमांड है। कुछ ग्राहक डार्क शेड्स को भी पसंद कर रहे हैं। हालांकि प्लास्टिक कोटेड पेंट की विशेषता को देखते हुए हल्के कलर की बिक्री ज्यादा है। प्लास्टिक पेंट अच्छा परावर्तक होने के चलते चकाचौंध रोशनी देता है। इसके चलते बिजली के प्रयोग में कमी की जा सकती है।

वर्तमान और पहले का रेट

डिस्टेंपर  850 रुपये/ 20 लीटर   930 रुपये/20 लीटर

प्राइमर    2050 रुपये/20 लीटर  2150 रुपये/20 लीटर

इमल्सन  2100 रुपये/20 लीटर   2250 रुपये/20 लीटर

इनेमल    850 रुपये/ प्रति चार लीटर  960 रुपये/ चार लीटर

लेबर का चार्ज भी तेज

पेंट बाजार में तेजी का असर लेबर चार्ज पर भी पड़ा है। बाजार में मांग के कारण लेबरों का रेट बढ़ गया है। कांट्रैक्टर ओंकार नाथ पांडेय कहते हैं कि वर्तमान में लेबर का चार्ज 450-500 रुपये प्रतिदिन हो गया है। इसके अलावा ठेका पर काम कराने का रेट भी बढ़ गया है।

क्‍या कहते हैं दुकानदार

बक्‍शीपुर के दुकानदार सुमित नंदवानी का कहना है कि वर्तमान में प्लास्टिक पेंट की डिमांड है। मशीन से पेंट का कलर बनाने की सुविधा के बाद लोग अपने मनपसंद रंग बनवा रहे हैं। जीएसटी कम होने के कारण पेंट बाजार में तेजी आई है। रायगंज के मधुसूदन पांडेय का कहना है कि दशहरा के पहले से ही पेंट के बाजार में तेजी आने लगी है। घर हों या देवालय, इमारतें हों या फिर कार्यालय सभी की साफ सफाई और रंगरोगन कराने की तैयारियां तेज हैं।

Posted By: Satish Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप