गोरखपुर, जेएनएन : शाहपुर के गीता वाटिका में पिकअप पर गाय लाद रहे तस्करों ने टोकने पर कोटेदार के घर पथराव कर दिया। छत पर खड़े परिवार के लोगों ने दीवार की आड़ में छिपकर खुद को सुरक्षित किया। सूचना पर पुलिस जब तक पहुंची तस्कर फरार हो गए। शाहपुर में गीता वाटिका मंदिर के सामने रहने वाले कोटेदार अवधेश गुप्ता का छोटा बेटा नवीन रात में छत पर खड़ा होकर पड़ोस में रहने वाले मित्र से बात कर रहा था। रात 12:30 बजे गीता वाटिका की तरफ से मुंह बांधे 12 लाेग पिकअप लेकर पहुंचे। सड़क पर खड़ी गाय को देखकर उन्होंने गाड़ी रोकी। पिकअप में सवार युवक नीचे उतरकर गाय को लादने लगे। छत पर खड़ा नवीन अपने मोबाइल से उनका वीडियो बनाने लगा। पशु तस्करों की नजर पड़ी तो गाड़ी में पड़े ईंट के टुकड़े से नवीन के घर पर पथराव शुरू कर दिया।

पुलिस के पहुंचने से पहले भाग निकले तस्‍कर

सूचना देने पर पुलिस पहुंची इससे पहले ही तस्कर फरार हो गए। देर रात तक पुलिस ने तस्करों को ढूंढा लेकिन पता नहीं चला। साप्‍ताहिक बंदी के दौरान शहर क बीचों-बीच से पिकअप समेत फरार हुए तस्करों ने पुलिस की चौकसी पर सवाल खड़ा कर दिया। प्रभारी निरीक्षक शाहपुर संतोष सिंह ने बताया कि पशु तस्करों की तलाश चल रही है। घटना के संबंध में किसी ने तहरीर नहीं दी है, फ‍िर भी खोजबीन की जा रही है।

किशोरी मुक्त,अपहरण के दो आरोपित गिरफ्तार

चिलुआताल व रामगढ़ताल पुलिस ने अपहरण के दो आरोपितों धर्मवीर और प्रमोद निषाद को गिरफ्तार किया। दोपहर में कोर्ट में पेश कर दोनों को जेल भेज दिया गया। आरोपित चिलुआताल थाना क्षेत्र के कोठा गांव के निवासी हैैं। पुलिस के अनुसार आरोपितों ने चिलुआताल के मजनू चौकी क्षेत्र की रहने वाली किशोरी को दो मई को अगवा कर लिया था। पुलिस ने किशोरी को सुबह ही मुक्त करा लिया है।