गोरखपुर, जेएनएन। कोविड प्रोटोकाल को देखते हुए इस समय शाम चार बजे बारात ही बारात निकल जा रही है। पांच बजे से ही पटाखे फूटने लग रहे हैं। छह बजते-बजते नाच गाना हो जा रहा है और रात आठ बजते-बजते वैवाहिक समारोह सम्पन्न हो जा रहा है। सब कुछ कोविड प्रोटोकाल के तहत हो रहा है, लेकिन इसमें किसी का ना मास्क पर ध्यान है और ना ही कोई शारीरिक दूरी मेंटेन कर रहा है। यहां तक कि कई शादियों में पुलिस कर्मियों ने भी खुद लोगों को चेतावनी दी है। बावजूद इसके अभी तक किसी ने ध्यान नहीं दिया है।

मास्क पर ध्यान न शारीरिक दूरी पर, नियम की खानापूरी कर हो रहे वैवाहिक आयोजन

कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए हर प्रकार के इंतजाम भी किए हुए हैं। वैवाहिक समारोह में जगह-जगह मास्क, सैनिटाइजर रखे मिल जा रहे हैं, लेकिन इनका उपयोग करता कोई नहीं दिख रहा है। मास्क लोगों की जेब में है और शादी में भी कई जगह काउंटर पर लोगों को लगाने के लिए मास्क रखे गए हैं, लेकिन कोई प्रयोग करता नहीं दिख रहा है।

मास्क तो लोग भूले भटके लगा भी ले रहे हैं, लेकिन शारीरिक दूरी का पालन करते कोई नहीं देखा जा रहा है। जबकि कोरोना से बचाव के लिए सभी सरकारी नियम इसी लिए बनाए गए हैं। ताकि इन बेसिक नियमों का पालन हो सके। लोग आठ बजे के भीतर वैवाहिक समारोह संपन्न करा लें ताकि वैवाहिक कार्यक्रमों में अधिक भीड़ ना हो और लोग एक दूसरे से शारीरिक दूरी का पालन कर सकें। 

लोग नहीं मान रहे नियम

मास्क लगाकार लोग कोरोना संक्रमण से बचाव कर सकें, लेकिन अनुपालन तो सिर्फ उतने का ही हो रहा है, कि जिस पर कार्रवाई न हो। यहां तक बीते सोमवार को तरंगरोड के पास एक वैवाहिक समारोह में पुलिस कर्मियों ने लोगों को टोका भी था। बावजूद इसके लोग इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। शास्त्रीनगर में तीन दिन पूर्व एक मैरेज हाल मालिक को पुलिस कर्मियों ने हिदायत दी थी कि यदि लोग बिना मास्क के मिले तो उनका पुलिस चालान भी करेगी। लेकिन पुलिस कर्मियों के जाते ही फिर लोग सारे नियमों को दरकिनार कर एक साथ घूमते नजर आ रहे हैं।

मास्क को लेकर पुलिस शहर से लेकर गांव तक कार्रवाई कर रही है। वैवाहिक समारोहों में भी लोग मास्क का अवश्य प्रयोग करें। शारीरिक दूरी का पालन करें। लगातार हाथ को सैनिटाइज करें। अन्यथा पुलिस देखेगी तो कार्रवाई तो करेगी ही। वैवाहिक समारोहों में लोग अब टोके नहीं जाएंगे, बल्कि सीधे कार्रवाई होगी। लोगों की जिंदगियां बचाना है। ऐसे में लोगों पर कार्रवाई की जरूरत पड़ी तो उसे भी किया जाएगा। बेहतर है कि लोग कोरोना से बचाव के लिए नियमों पालन करें। खुद सुरक्षित रहें और दूसरों को भी रखें। - दिनेश कुमार पी, एसएसपी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप