गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर में कोरोना भयावह रूप लेता जा रहा है। 24 घंटे में जहां पहली बार 572 नए संक्रमित मिले हैं, वहीं बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कालेज में 10 संक्रमितों की मौत हो गई है। इसमें गोरखपुर विश्वविद्यालय के एक शिक्षक समेत सात गोरखपुर के हैं। मौतें पोर्टल पर अपलोड न होने से स्वास्थ्य विभाग ने एक मौत की सूचना जारी की है, जो पुरानी है। जिले में अब तक 24968 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 375 की मौत हो चुकी है। 21617 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। 2976 सक्रिय मरीज हैं। सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि 572 संक्रमितों में से 424 शहर के हैं। 

इनकी हुई मौत

शहर के तारामंडल निवासी 40 वर्षीय व्यक्ति, सुकरौली के नरायनपुर निवासी 68 वर्षीय महिला, हुमायूंपुर निवासी 50 वर्षीय, राजेंद्र नगर निवासी 47 वर्षीय, बशारतपुर के 75 वर्षीय, गोला बाजार के 53 वर्षीय व पिपराइच के 48 वर्षीय व्यक्ति बाबा राघव दास मेडिकल कालेज के कोरोना वार्ड में भर्ती थे। मंगलवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। इसी वार्ड में भर्ती कुशीनगर के 40 वर्षीय, महराजगंज के 55 वर्षीय व्यक्ति व देवरिया की 60 वर्षीय महिला की भी मौत हो गई। सभी के शव कोविड प्रोटोकाल के तहत स्वजन को सौंप दिए गए। 

आरएमआरसी के वायरोलाजिस्ट समेत 10 संक्रमित

क्षेत्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान केंद्र (आरएमआरसी) के वायरोलाजस्ट  समेत 10 लोग संक्रमित हो गए हैं। वहीं एम्स में दूसरे दिन भी रजिस्ट्रार व चार छात्रों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। एक दिन पहले 13 लोग संक्रमित मिले थे। गोरखपुर विश्वविद्यालय में कमेटी सेल के कर्मचारी पाजिटिव आए हैं।  

कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में बचाव के नियमों का पालन करें। भीड़ में न जाएं। मास्क लगाएं और शारीरिक बनाए रहें। - डा. सुधाकर पांडेय, सीएमओ

महराजगंज में उप कृषि निदेशक की मौत

उधर, महराजगंज जिले में उप कृषि निदेशक विनोद कुमार की जहां मौत हो गई, वहीं मंगलवार को 87 और कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। इससे स्वास्थ्य विभाग सहित प्रशासन की बेचैनी बढ़ गई है। उप कृषि निदेशक विनोद कुमार बीते चार अप्रैल से बीमार चल रहे थे। इनका इलाज महराजगंज जिला अस्पताल में चल रहा था। वह जिला पंचायत सदस्य के रिटर्निंग आफिसर भी बनाए गए थे, लेकिन बाद में उन्हें इस दायित्व से मुक्त कर दिया गया था। नौ अप्रैल को तबीयत बिगड़ने पर उन्हें गोरखपुर के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया था। सोमवार को कोरोना की जांच रिपोर्ट में वह पाजिटिव पाए गए थे, लेकिन देर रात उनकी मौत हो गई। उप कृषि निदेशक की मौत से सरकारी महकमें में सन्नाटा छा गया। अधिकारी, कर्मचारी काफी मर्माहत हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप