गोरखपुर, उमेश पाठक। लंबे समय से बिल बकाया होने पर कनेक्शन कटने से बचाने के लिए बिजली उपभोक्ता हर हथकंडा अपना रहे हैं। हाल के दिनों में बिजली निगम को चेक के नाम पर 'झटका' देने का मामला प्रकाश में आया है। शहर के करीब 400 उपभोक्ताओं ने दरवाजे पर पहुंची जांच टीम को चेक देकर कनेक्शन कटने से बचा लिया। लेकिन, जब निगम ने इन चेकों को भुनाना चाहा तो वे बाउंस हो गए। इस धोखे को गंभीरता से लेते हुए अधिकारियों ने ऐसे लोगों पर विधिक कार्रवाई का मन बनाया है। इन पर डेढ़ करोड़ रुपये से अधिक बकाया है।

बाउंस हो चुके हैं कई चेक

हाल के दिनों में हुई समीक्षा में यह मामला प्रकाश में आया कि कई उपभोक्ताओं के चेक बाउंस हो गए हैं। इनके ऊपर आपराधिक  मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी है। नगरीय विद्युत वितरण खंड एक टाउनहाल के अंतर्गत करीब 180, विद्युत वितरण खंड द्वितीय बक्शीपुर में करीब 95, नगरीय विद्युत वितरण खंड तृतीय मोहद्दीपुर में 55 से अधिक एवं विद्युत वितरण खंड चतुर्थ राप्तीनगर में 60 से अधिक लोगों ने गलत चेक देकर कनेक्शन कटने से बचाया है।

नहीं स्वीकार किए जाएंगे चेक

कुछ उपभोक्ताओं की ओर से दिए गए धोखे से बिजली निगम सतर्क हो गया है। बिजली निगम के अधिकारी इस बात पर विचार कर रहे हैं कि मौके पर चेक न लिया जाए। जिनके चेक बाउंस हुए हैं, उनसे वसूली की प्रक्रिया चल रही है।

शहर क्षेत्र में कई उपभोक्ताओं की ओर से दिए गए चेक बाउंस होने के मामले संज्ञान में आए हैं। उनसे 15 दिन में वसूली की जाएगी। इसकी प्रक्रिया शुरू हो गई है। ऐसे लोगों पर कार्रवाई भी होगी। - ई. यूसी वर्मा अधीक्षण अभियंता शहर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस