महराजगंज: जिले में अंत्येष्टि स्थल को लेकर फिलहाल स्थिति ठीक नहीं है। अधिकारियों और कार्यदायी संस्था की उदासीनता के कारण इसके निर्माण को गति नहीं मिल पा रही है। खाते में धन होने के बाद भी अभी चार ग्राम पंचायतों में अंत्येष्टि स्थल के निर्माण का शुभारंभ भी नहीं हो सका है।

ग्रामीण क्षेत्रों में अंतिम संस्कार के समय होने वाली परेशानियों को ध्यान में रखकर शासन ने जिले में छह अंत्येष्टि स्थल बनवाए जाने की स्वीकृति दी है। इसके लिए प्रत्येक अंत्येष्टि स्थल पर 24 लाख 11 हजार 640 रुपये ग्राम पंचायतों के खाते में भेज भी दी गई। लेकिन निर्माण की रफ्तार काफी सुस्त है। केवल धानी के घीवपीड़ में जहां अंत्येष्टि स्थल तैयार किया गया, वहीं सिसवा के फटकदौना में निर्माण कार्य चल रहा है। अभी यहां छत का इंतजार है। जबकि

पनियरा के जड़ार, सदर के बागापार, कृतपिपरा और निचलौल के बहुआर कला में नींव तक नहीं रखी जा सकी है। जिला पंचायत राज अधिकारी केबी वर्मा ने बताया कि अवर अभियंता से विस्तृत प्राक्कलन तैयार कराकर उनकी देखरेख में मानक एवं डिजाइन के अनुरूप गुणवत्तायुक्त कार्य समय से पूरा करने का निर्देश दिया गया है। विलंब के संदर्भ में कार्यदायी संस्था से जवाब-तलब किया जाएगा। नदी किनारे गांव होने के कारण भूमि में नमी है। इस कारण विलंब हुआ है। लेआउट बनाने के लिए अवर अभियंता को दिया गया है। 15 दिसंबर से कार्य शुरू कराया जाएगा। इस संबंध विभाग को भी अवगत कराया गया है।

-रामनिधि पटेल, प्रधान, बहुआर कला, निचलौल ग्राम पंचायत का खाता एक माह पूर्व बंद था। भूमि की पैमाइश भी अभी नहीं हो पाई है। इसके लिए लेखपाल से वार्ता हुई है। शीघ्र ही चिन्हित भूमि को अधिग्रहित कर निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा।

ढुनमुन प्रसाद, प्रधान, जड़ार, पनियरा

Edited By: Jagran