गोरखपुर, जेएनएन। लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन पर गोरखपुर से जाने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन सोमवार को पकड़े गए जाली नोट के खेप के तार नेपाल से जुड़े हैं। एटीएस की छानबीन में पता चला है कि नेपाल सीमा से लगने वीरगंज बार्डर से जाली नोट की खेप भारत लाई गई थी। गिरफ्त में आए दोनों आरोपित को बिहार के बेतिया जिले में नोट की खेप मिली थी। जिसे साथ लेकर वे हरियाणा जा रहे थे।

एटीएस की टीम ने चारबाग रेलवे स्टेशन पर 12 हजार रुपये के जाली नोट के साथ दो युवकों को गिरफ्तार किया था। उन्हें चारबाग जीआरपी के हवाले कर दिया गया है। अभियुक्तों की पहचान सिरसा, हरियाणा के जसवीर सिंह और राजस्थान के गुरुबचन सिंह के रूप में हुई है। बेतिया से जाली नोट की खेप के साथ वे गोरखपुर आए थे। यहां से लखनऊ जाने के लिए उन्होंने इंटरसिटी एक्सप्रेस पकड़ी थी। हरियाणा जाने के लिए लखनऊ से दूसरी ट्रेन पकडऩे की उनकी योजना थी।

जेल से छूटने के बाद जाली नोट के धंधे में उतरे दोनों आरोपित

जाली नोट के साथ गिरफ्तार किया गया जसवीर कुछ माह पहले ही जेल से जमानत पर छूटा था। हरियाणा की ही एक जेेल में उसकी मुलाकात गुरुवचन सिंह से हुई थी। जेल से बाहर आने के बाद उन्होंने जाली नोट का धंधा शुरू करने का फैसला किया। इसी बीच उनसे बिहार का एक व्यक्ति मिला। उसी ने बेतिया, बिहार में रहकर जाली नोट का धंधा करने नेटवर्क से जुड़े लोगों से उनकी बात कराई। फोन पर हुई बातचीत में सौदा तय होने पर जयवीर और गुरुवचन जाली नोट की खेप लेने बेतिया पहुंचे। एटीएस, बिहार निवासी व्यक्ति की तलाश में जुटी है।

एटीएस को बड़ी खेप लाए जाने की थी सूचना

टीएस डीके ठाकुर कर रहे थे, लेकिन उनके पास से सिर्फ 12 हजार रुपये ही मिले। पूछताछ में उन्होंने बताया कि पहली बार में उन्होंने इस काम में कम पूंजी लगाने का निर्णय लिया था। इसीलिए सिर्फ 12 हजार रुपये उठाए थे। यह रकम बाजार में खपाने के बाद दूसरी बार बड़ी खेप उठाने की उन्होने योजना बनाई थी।

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी करती है जाली नोट की सप्लाई

काठमांडू, नेपाल के त्रिभुवन एयरपोर्ट पर मई 2019 में वहां की पुलिस ने तीन करोड़ रुपये की जाली भारतीय मुद्रा के साथ एक महिला सहित पांच पाकिस्तानी नागरिकों को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में उन्होंने बताया था कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ और पाक सेना के अधिकारियों ने उन्हें जाली नोट की खेप नेपाल पहुंचाने के लिए कहा था। उनसे पूछताछ में पता चला था कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी बड़े पैमाने पर जाली नोट भारत भेजने की फिराक में है।

चारबाग रेलवे स्टेशन पर पकड़े गए जाली नोट नेपाल से बिहार के बेतिया जिले में लाए गए थे। वहां से नोट की खेप लेकर दो युवक हरियाणा जा रहे था। उन्हें गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। उम्मीद है कि जाली नोट के धंधे से जुड़े नेटवर्क का बहुत जल्दी पर्दाफाश कर लिया जाएगा। - डीके ठाकुर, एडीजी एटीएस

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस