गोरखपुर, जेएनएन। जिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष निर्मला पासवान ने प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की अविलंब रिहाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कांग्रेसियों का उत्पीडऩ कर रही है, जबकि कांग्रेस एक जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभाते हुए अपना कार्य कर रही है।

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस के चलते हुए लाकडाउन में कांग्रेस ने 90 लाख लोगों के लिए भोजन की व्‍यवस्‍था की। इतना ही नहीं,  जरूरतमंदों को राशन पहुंचाने का इंतजाम किया। लाकडाउन में कांग्रेस ने सभी जिलों में अभियान के तहत जरूरतमंदों को भोजन उपलब्‍ध कराया। शहर के मोहल्‍लों से लेकर चौक चौराहों तक गरीबों के लिए भोजन की व्‍यवस्‍था की गई थी। कांग्रेस के आह्वान पर ही लोगों में राशन एवं खाद्य सामग्री का वितरण किया गया। भोजन उपलब्‍ध कराने के लिए प्रदेश के 22 जनपदों में रसोई घरों का संचालन किया गया था।

कांग्रेस की उपलब्धियों से सरकार घबराई

जिलाध्‍यक्ष ने कहा कि कांग्रेस की उपलब्धियां और जनता में बेहतर छवि के कारण प्रदेश सरकार घबरा गई है। यही कारण है कि कांग्रेस के नेताओं का उत्‍पीड़न शुरू कर दिया गया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू की गिरफ्तारी उसी का नतीजा है। सरकार बौखला गई है इसलिए प्रदेश अध्‍यक्ष की गिरफ्तारी कराई है। उन्होंने प्रदेश सरकार से कांग्रेसियों पर दर्ज मुकदमे तत्काल वापस लेने की मांग की।

प्रदेश अध्यक्ष की रिहाई के लिए किया हवन

शहर कांग्रेस कमेटी के निवर्तमान अध्यक्ष अरुण अग्रहरि के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने कैंप कार्यालय पर प्रदेश सरकार की सद्बुद्धि व प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की रिहाई के लिए हवन किया। इस मौके पर दिनेश चंद्र श्रीवास्तव, उमेश चंद्र खन्ना, नवीन सिन्हा, अनुराग पांडेय, प्रभात चतुर्वेदी, सदानंद पांडेय, आशीष सिंह, विकास द्विवेदी उपस्थित थे। वक्‍ताओं ने कहा कि जनता को अब घबराने की जरूरत नहीं है। आने वाला समय कांग्रेस का है। यही कारण है कि सरकार प्रदेश अध्‍यक्ष की रिहाई नहीं कर रही है। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस अब जन जन में प्रचार कर कांग्रेस के उल्‍लेखनीय कार्यों को बताएंगे।  

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस