गोरखपुर, जागरण संवाददाता। PM Avas Yojna, Prime Minister Housing Scheme: प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी किसी बिचौलिए या रिश्वतखोर कर्मचारी का शिकार न हों, इसके लिए कैंप कार्यालय द्वारा बिचौलियों की तलाश कराने की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की योजना सफल होती दिखने लगी है। बुधवार को दैनिक जागरण में इसकी खबर प्रकाशित होते ही आवास के लिए रिश्वत लेने की शिकायतों का अंबार लग गया। कैंप कार्यालय के प्रकाशित फोन नंबर पूरे दिन फोन काल आती रही। करीब 150 लाभार्थियों ने सर्वेयर या बिचौलिए द्वारा रिश्वत मांगने की शिकायत दर्ज कराई। शिकायतों की जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई कराने के लिए कैंप कार्यालय की टीम जुट गई है।

जांच कर कार्रवाई कराने की तैयारी करने में जुटी कैंप कार्यालय टीम

मुख्यमंत्री ने प्रशासन के माध्यम से कैंप कार्यालय को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत जिले में लाभ पाने वाले 890 पात्र व्यक्तियों की सूची फोन नंबर सहित उपलब्ध कराई थी। यह वह लाभार्थी हैं, जिन्हें बीते दिनों योजना की पहली किश्त जारी की गई थी और दूसरी और तीसरी किश्त दी जानी है। सूची में दर्ज फोन नंबर के माध्यम से कैंप कार्यालय की टीम लाभार्थियों से यह जानने की कोशिश कर रही थी कि आवास के नाम पर कोई व्यक्ति उनसे रिश्वत तो नहीं मांग रहा। बुधवार की सुबह जब इससे जुड़ी खबर कैंप कार्यालय के फोन नंबर के साथ प्रकाशित हुई तो उसपर सुबह से ही शिकायती फोन काल आने का सिलसिला शुरू हो गया।

द‍िन भर आती रहीं श‍िकायतें

हालांकि काल करने वाले प्रधानमंत्री आवास योजना के अलावा अन्य मामलों को लेकर भी अपनी शिकायत दर्ज करा रहे थे लेकिन इनमें से करीब 150 काल योजना का लाभ लेने के दौरान रिश्वतखोरों का शिकार होने वालों की थी। कैंप कार्यालय के प्रभारी और कर्मचारियों ने हर शिकायत को सूचीबद्ध् किया और उसकी वास्तविकता की पड़ताल शुरू कर दी। पूछताछ द्वारा प्राथमिक पड़ताल में अगर शिकायत सही पाई गई तो कार्यालय मामले को गहन जांच के बाद कार्रवाई के लिए प्रशासन को सुपुर्द कर देगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पात्र व्यक्तियों तक आसानी से पहुंचे। आवास पाने में लाभार्थी को रिश्वतखोर या बिचौलियों का शिकार न होना पड़े, इसके लिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर हमारी टीम जुटी हुई है। जो भी शिकायतें आ रही हैं, उनकी पड़ताल कराकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाएगी। लाभार्थी कैंप कार्यालय के फोन नंबर 6389938600 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। - मोती लाल सिंह, प्रभारी, मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय।

Edited By: Pradeep Srivastava