गोरखपुर, जेएनएन। संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा रविवार को गोरखपुर मंडल के तीन जिलों गोरखपुर, कुशीनगर व देवरिया के 68 परीक्षा केंद्रों पर शांतिपूर्ण शुरू हो गई। परीक्षा में 30599 अभ्यर्थी शामिल हो रहे हैं। गोरखपुर में सर्वाधिक 52 केंद्रों पर 25799, कुशीनगर के सात केंद्रों पर 2100 तथा देवरिया के नौ परीक्षा केंद्रों पर 2700 अभ्यर्थी परीक्षा दे रहे हैं। परीक्षा को लेकर केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। परीक्षा दो पालियों में आयोजित है। पहली पाली 9 से 12 व दूसरी पाली दो से पांच बजे तक संपन्न होगी।

संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा के नोडल समन्वयक प्रो.राजवंत राव ने बताया कि कोविड-19 के मद्देनजर अभ्यर्थियों व परीक्षा कार्य से जुड़े शिक्षकों व कर्मचारियों को थर्मल स्कैनिंग व मास्क के साथ परीक्षा कक्ष में प्रवेश की अनुमति दी गई है। उन्होंने बताया कि परीक्षा को शुचितापूर्ण संपन्न कराने की दृष्टि से दो परीक्षा केंद्रों पर एक मजिस्ट्रेट व प्रत्येक केंद्र पर एक स्टैटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। जबकि दो केंद्रों पर एक सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं, जिनकी जिम्मेदारी परीक्षा केंद्रों तक परीक्षा सामग्री ले जाने की होगी। 

डिस्पोजेबल स्ट्रिप से लिए जाएंगे अभ्यर्थी के अंगूठे के निशान

संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा में इस बार कोविड-19 से अभ्यर्थियों को बचाने व मुन्ना भाइयों पर लगाम लगाने के लिए पहली बार डिस्पोजेबल स्ट्रिप की व्यवस्था की गई है। इसके जरिये प्रत्येक अभ्यर्थी के अंगूठे का निशान लिया जाएगा, जिससे दूसरे की स्पर्श की हुई स्ट्रिप अन्य छात्र को न छूनी पड़े। अब तक परीक्षा से पहले अंगूठे का निशान लेने के लिए एक इंक पैड दे दिया जाता था, लेकिन इस बार हर अभ्यर्थी के लिए डिस्पोजेबल स्ट्रिप की व्यवस्था की गई है।

ऑनलाइन रहेगी परीक्षा पर नजर

परीक्षा को नकलविहीन बनाने के लिए सभी परीक्षा केंद्रों के सभी कक्षों की ऑनलाइन निगरानी की जा रही है। परीक्षा के आयोजक लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा सभी केंद्रों पर अनवरत सीधी नजर रखी जाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021