गोरखपुर, जागरण संवाददाता। वन्य जीव सप्ताह के तहत चल रहे कार्यक्रम में बुधवार का दिन गोरखपुर चिड़ियाघर के लिए बेहद खास होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ढाई माह पहले आयी सफेद बाघिन (व्हाइट टाइगर) गीता को क्राल से मुख्य बाड़े में प्रवेश कराने के साथ ही तेंदुए के दो बच्चों का नामकरण करेंगे।

चिड़ियाघर प्रशासन ने शुरू की तैयारी

गीता के मुख्य बाड़े में जाने के साथ ही पर्यटक उसका दीदार भी कर सकेंगे। कार्यक्रम को लेकर चिड़ियाघर प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है।

लखनऊ से गोरखपुर चिड़ियाघर लाई गई थी सफेद बाघिन

20 जून 2022 को गीता नाम की सफेद बाघिन को लखनऊ से गोरखपुर चिड़ियाघर लाया गया। चिड़ियाघर के माहौल के अनुकूल बनाए रखने के लिए गीता को पहले क्वारन्टीन किया गया और फिर क्राल में रखा गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को गोरखपुर चिड़ियाघर पहुंच सफेद बाघिन को मुख्य बाड़े में भेजेंगे।

दो हिमालयन ब्लैक बीयर (भालू) को भी बाड़े में भेजेंगे मुख्यमंत्री

तेंदुए के जिन दो बच्चों का नामकरण होना है उन्हें चिड़ियाघर के अस्पताल में रखा गया है। चिड़ियाघर प्रशासन की तैयारी है कि कानपुर चिड़ियाघर से लाए जा रहे दो हिमालयन ब्लैक बीयर (भालू) को भी मुख्यमंत्री के हाथों बाड़े में रिलीज कराया जाए। इससे पहले 18 मार्च को मुख्यमंत्री गोरखपुर चिड़ियाघर आए थे। तब उन्होंने हर और गौरी नाम के दो गैंडों को केला खिलाया था।

नर-मादा को एक बाड़े में रखने की योजना

चिड़ियाघर में मौजूद जानवरों का जोड़ा बनाने को लेकर चिड़ियाघर प्रशासन तैयारी कर रहा है। इनमें मादा बोनट बंदर और सफेद बाघिन गीता प्रमुख हैं। दोनों जानवरों के नर की तलाश चिड़ियाघर प्रशासन कर रहा है। बाघ दिवस पर अपने आनलाइन संबोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इसकी चर्चा की थी। गीता के जोड़े के लिए चेन्नई चिड़ियाघर से बातचीत चल रही है।

इसके अलावा कानपुर चिड़ियाघर में मंगाए जा रहे काले हिमालयन भालू को लेकर भी इस बात का ध्यान रखा जा रहा है। इसके जोड़े के लिए शक्करबाग प्राणि संग्रहालय जूनागढ़ से संपर्क साधा जा रहा है। हालांकि चिड़ियाघर में शेर व शेरनी जोड़े में है लेकिन शेरनी मरियम अपनी उम्र पूरी कर चुकी है इसलिए शेर पटौदी के नए जीवन-साथी की तलाश भी अभी से शुरू हो गई है।

Edited By: Pradeep Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट