गोरखपुर, जागरण संवाददाता। CM Yogi Adityanath program in Gorakhpur: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि धर्म-संस्कृति की रक्षा व विकास के लिए सभी वर्ग के लोगों को आगे आना चाहिए। मंदिर हमारे धर्म-संस्कृति के संवाहक हैं, इसलिए इनका जितना विकास होगा, हमारी संस्कृति उतनी ही मजबूत होगी।

72 लाख रुपये से कराया गया कालीबाड़ी का सुंदरीकरण

मुख्यमंत्री ने बुधवार को सुंदरीकरण व सुदृढ़ीकरण के बाद कालीबाड़ी, रेती चौक का लोकार्पण किया। पर्यटन विकास की दृष्टि से इस मंदिर को 72 लाख रुपये से विकसित किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कालीबाड़ी से मेरा 25-30 वर्षों से संबंध है। महंत रविंद्र दास ने काफी मेहनत कर इस मंदिर का विकास किया है। अन्य लोगों को भी मंदिरों के विकास के लिए आगे आना चाहिए। इसके पूर्व उन्होंने वहां स्थापित मां दुर्गा की आरती की और चुनरी चढ़ाई। मंदिर के अंदर हनुमान जी और मां भगवती का दर्शन व आरती करने के बाद उन्होंने गंगा नामक गाय का पूजन किया। उसे गुड़ खिलाया। इसके बाद वह पहले मंजिल पर बने सभागार में गए। वहां महंत रविंद्र दास व अन्य से बातचीत की।

कार्यक्रम में यह रहे मौजूद

इस अवसर पर थोक वस्त्र व्यवसायी वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष राजेश नेभानी, दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष चंदन अग्रवाल व व्यापारियों ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। संचालन आत्रेय शुक्ल ने किया। मंदिर के महंत रविंद्र दास ने मुख्यमंत्री व अन्य अतिथियों के प्रति आभार ज्ञापित किया। इस अवसर पर महापौर सीताराम जायसवाल, सांसद रविकिशन, ग्रामीण विधायक विपिन सिंह आदि उपस्थित थे।

गूंजते रहे ठहाके

कार्यक्रम में महापौर सीताराम जायसवाल ने विधायक को भूलवश सांसद संबोधित कर दिया, हालांकि उन्होंने पुन: सुधार लिया लेकिन तब तक ठहाके गूंज उठे। मुख्यमंत्री भी मुस्कराए बिना नहीं रह सके। कार्यक्रम स्थल पर पोस्टर लगे थे, जिन पर लिखा था- गोरखपुर की एक ही आस, रविंद्र दास रविंद्र दास। इसका उल्लेख करते हुए सांसद रविकिशन ने कहा कि यह महराज जी की महिमा है। मुझे तो इस पोस्टर से डर लग रहा है। इस पर भी ठहाके गूंजे। पूरा माहौल खुशनुमा हो गया था।

Edited By: Pradeep Srivastava