गोरखपुर, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर-वाराणसी फोरलेन निर्माण में देरी की वजह से यात्रियों को हो रही परेशानियों को गंभीरता से लिया है। गोरखनाथ मंदिर में विकास कार्यो की समीक्षा के दौरान उन्होंने कार्यदायी संस्था को निर्देश दिए कि फोरलेन के निर्माण कार्य में तेजी लाएं। मुख्यमंत्री ने देवरिया-गोरखपुर और महराजगंज-गोरखपुर फोरलेन के निर्माण कार्य भी जल्दी पूरा कराने के निर्देश दिए। कालेसर-जंगल कौड़िया बाईपास फोरलेन निर्माण की जानकारी लेते हुए 15 नवंबर तक सभी सड़कों को गुणवत्तापूर्ण तरीके से गड्ढामुक्त करने को भी कहा।

सीएम ने कहा कि त्योहारों को देखते हुए पुलिस सघन जांच अभियान चलाए और कानून-व्यवस्था का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई भी करे। दिवाली व छठ पर्व को देखते हुए घाटों की साफ-सफाई समेत अन्य व्यवस्थाएं समय से पूर्ण कर ली जाएं। सीएम ने हर 15 दिन पर निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा करने के लिए डीएम को निर्देशित करते हुए कहा है कि निर्माण कार्य के लिए अलग-अलग नोडल अधिकारी व टीम बनाकर गुणवत्ता की निगरानी भी कराई जाए।

नदियों को प्रदूषणमुक्त करने के लिए बनाएं विस्तृत कार्ययोजना

जनपद में बन रहे इंटर कालेजों, स्टेडियम, ड्रेनेज सिस्टम, राप्ती नदी पर पक्के घाट की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने राप्ती व रोहिन नदी में गिरने वाले नालों को रोकने के लिए विस्तृत कार्य योजना बनाकर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने खेलो इंडिया के तहत ग्राम पंचायतों में खेल के मैदान चिह्न्ति करने के निर्देश दिए। कहा कि ठंड को देखते हुए रैन बसेरा बेहतर बनाने के साथ ही कंबल की खरीद प्रक्रिया पूरी कर ली जाए। नगर निगम एवं शहर की सीमा विस्तार पर व्यापक कार्य योजना तैयार करने के निर्देश भी दिए। महराजगंज-गोरखपुर और देवरिया-गोरखपुर फोरलेन का निर्माण भी जल्द पूर्ण कराने के मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

डॉ. फूलचंद की किताब का विमोचन

योगवाणी पत्रिका के संपादक और भोजपुरी साहित्यकार डॉ.फूलचंद प्रसाद गुप्त की 11वीं किताब आंखिन देखी का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में रविवार को लोकार्पण किया। मंदिर के तिलक हॉल में हुए लोकार्पण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने लेखक को बधाई दी और कृति सृजन की सराहना की। लोकार्पण के बाद डॉ.फूलचंद ने बताया कि वह उनका चौथा भोजपुरी निबंध संग्रह है। यह संग्रह लोक संस्कृति की परंपरा को समृद्ध करने वाला है। इसका शीर्षक कबीर की उक्ति आंखिन देखी से लिया गया है। 23 निबन्ध संग्रह वाले इस किताब में मुख्यमंत्री के आशीर्वचन के साथ प्रो.रामदेव शुक्ल, प्रो.रामदरश राय और रवीन्द्र श्रीवास्तव जुगानी की भूमिका प्रस्तुत है। लोकार्पण अवसर पर प्रो. यूपी सिंह, डॉ. शैलेंद्र प्रताप सिंह, डॉ. प्रदीप कुमार राव, डॉ. अरुण कुमार सिंह, प्रमथ नाथ मिश्र, डॉ. अरविंद चतुर्वेदी, कृष्णा चटर्जी, द्वारिका तिवारी आदि मौजूद रहे।

गोरखपुर में साढ़े छह घंटे सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का रविवार का दौरा अति संक्षिप्त रहा। इस दौरे में वह महज साढ़े छह घंटे ही शहर में रहे। दोपहर बाद 2.10 बजे वह गोरखनाथ मंदिर पहुंचे और देर शाम 8:40 बजे वापस लखनऊ चले गए। मंदिर पहुंचने के बाद उन्होंने गुरु गोरक्षनाथ के दर्शन-पूजन किए और फिर अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ के समाधि स्थल पर जाकर उनका आशीर्वाद लिया। महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद और विकास कार्यों की समीक्षा बैठक के बाद सीएम योगी ने करीब 50 ऐसे लोगों से मुलाकात की, जो उनके आने के बाद से ही मिलने के लिए मंदिर परिसर में जमे हुए थे।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप