गोरखपुर, जेएनएन। निराश्रित बच्चों के साथ समय बिताने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार की सुबह जेल रोड स्थित एशियन सहयोगी संस्था इंडिया में संचालित बाल शिशु गृह पहुंचे। यहां बच्चों को दुलारते हुए मुख्यमंत्री ने उन्हें उपहार दिया तो बच्चों के चेहरे खिल उठे। उनसे संवाद में मुख्यमंत्री ने पूछा कि यहां क्या सीखते हो? जवाब में बच्चों ने बताया कि पढ़ाई के साथ योग और मंत्र भी सीख रहे हैं। सभी बच्चों ने एक साथ मुख्यमंत्री को महामृत्युंजय मंत्र एवं गायत्री मंत्र सुनाया। इसके बाद मनमोहक गीत भी सुनाया। मंत्र एवं गीत सुनने के बाद मुख्यमंत्री ने बच्चों को आशीर्वाद दिया।

सीएम ने दिया चाकलेट, कपड़ा और कापी-किताब

मुख्यमंत्री सुबह करीब 10.25 बजे बाल शिशु गृह पहुंचे। यहां संस्था की निदेशक ऊषा दास ने उनका स्वागत किया। मुख्यमंत्री सीधे भूतल पर बने हाल में गए और वहां मौजूद 18 बच्चों को उपहार प्रदान किया। मुख्यमंत्री की ओर से इन बच्चों को चाकलेट, कपड़ा, ड्राई फ्रूट, फल, हिंदी, अंग्रेजी, गणित की कापी व किताब, कलरिंग बुक व कलर प्रदान किया गया। आकर्षक ढंग से सजी टोकरी में उपहार पाकर बच्चे काफी खुश थे। छह साल से ऊपर के ये बच्चे निराश्रित हैं और समय-समय पर बाल कल्याण समिति की ओर से इस संस्था में लाए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कोविड से निराश्रित हुए बच्चे के बारे में पूछा तो संस्था की निदेशक ने बताया कि अभी ऐसा कोई बच्चा नहीं आया है। मुख्यमंत्री ने बच्चों से संवाद करते हुए पूछा कि स्कूल जाते हो या यहीं पढ़ते हो, इसपर कुछ बच्चों ने बताया कि यहीं पढ़ते हैं, कुछ ने बताया स्कूल जाते हैं। बच्चों ने उन्हें हिंदी एवं अंग्रेजी की वर्णमाला भी सुनाई। संस्था की निदेशक ने बताया कि कोविड के कारण बच्चों को संस्था में ही बेसिक शिक्षा दी जा रही है। इसके बाद मुख्यमंत्री प्रथम तल पर छोटे बच्चों को देखने पहुंचे। यहां शून्य से दो साल उम्र तक के बच्चे रहते हैं। मुख्यमंत्री ने इन बच्चों के लिए दूध, हार्लिक्स व कपड़ा प्रदान किया। मुख्यमंत्री करीब 15 मिनट बच्चों के साथ बिताने के बाद वहां से रवाना हुए। इस दौरान निदेशक महिला कल्याण मनोज कुमार राय, डिप्टी डायरेक्टर दिलीप कुमार, जिला प्रोबेशन अधिकारी सर्वजीत सिंह, स्थानीय पार्षद मीरा देवी, जिला बाल संरक्षण अधिकारी डा. सुमन शुक्ला, यूनिसेफ के नीरज शर्मा, संस्था के विकास श्रीवास्तव, रवि साइमन, प्रियंका सिंह, अश्विनी, आशीष, संतोष गौड़, संदीप, अनीता मूसा, मरियम आदि उपस्थित रहे।

संस्था के कार्यों को सराहा

मुख्यमंत्री ने संस्था की व्यवस्था, साफ-सफाई, बच्चों की देखभाल देखकर प्रसन्नता जताई। उन्होंने कहा कि यह देखकर काफी अच्छा लग रहा है कि निराश्रित बच्चों का बेहतर तरीके से लालन पालन हो रहा है। यहां की व्यवस्था देखकर प्रभावित हूं। संस्था की निदेशक से उन्होंने कहा कि उन्हें गर्व है कि इस प्रदेश में इतनी अच्छी संस्था है। इस कार्य को इसी तरह जारी रखने की जरूरत है।

Edited By: Satish Chand Shukla